खेती किसानी

16 अप्रैल को साल भर के मौसम का हाल बताएगी सरकार 

नई दिल्ली। साल 2018 में मौसम के मिजाज के पूर्वानुमान की आधिकारिक घोषणा आगामी सोमवार को की जाएगी।

प्रदूषण और फसल चक्र के लिहाज से महत्वपूर्ण मानी जाने वाली मौसम की दीर्घकालिक घोषणा का यह पहला चरण होगा। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की ओर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मौसम विभाग के महानिदेशक केजे रमेश 16 अप्रैल को मौसम के वार्षिक पूर्वानुमान के पहले चरण की घोषणा करेंगे।

मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हर साल दो चरणों में होने वाली मौसम के पूर्वानुमान की घोषणा के आधार पर प्रदूषण से निपटने के पूर्व नियोजित कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया जाता है। साथ ही किसानों के लिये भी मौसम के दीर्घकालिक पूर्वानुमान की खासी अहमियत होती है। इसके आधार पर देश भर के किसान अपनी फसलों का निर्धारण करते हैं।

सिंह ने बताया कि पहले चरण में दक्षिण पश्चिम मानसून की सक्रियता से अप्रैल से जून के बीच होने वाली बारिश का दीर्घकालिक पूर्वानुमान व्यक्त किया जाता है। इसके आधार पर दूसरे चरण में वर्ष के शेष महीनों में बारिश और मौसम के मिजाज का आंकलन किया जाता है।

(एजेंसी)

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए अच्छा नहीं रहा यह सप्ताह, बारिश, ओलों और तेज आंधी ने बिगाड़ा खेल