कीमतें बढ़ी तो किसान रबी में खूब बो रहे दाल

कीमतें बढ़ी तो किसान रबी में खूब बो रहे दाल

लखनऊ साल 2015 में अप्रैल से लेकर अक्टूबर तक चना, मटर, अरहर जैसी दालों के मूल्य में आये उछाल का साफ़ असर अक्टूबर से शुरू हुई रबी की बुआई पर दिखने लगा है अक्टूबर 23 तक देश भर में चना, मटर, मसूर जैसी रबी दालों के बुआई के रकबे में 100 फीसदी से ज्यादा वृद्धि हुई है इस वजह से रिकॉर्ड बुआई का अनुमान लगाया जा रहा है

केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 23 अक्टूबर तक देशभर में रबी दलहन का रकबा 9.83 लाख हेक्टेयर दर्ज किया गया, जो पिछले साल इसी समय के मुकाबले लगभग 107 प्रतिशत ज्यादा है वर्ष 2014 में इस समय तक देशभर में सिर्फ 4.75 लाख हेक्टेयर में रबी दलहन की खेती हो पायी थी।

रबी दलहन की मुख्य फसल चना और मटर है इसके अलावा कुल बुआई के क्षेत्रफल के कुछ भाग में मसूर व मूंग का भी उत्पादन होता है।

अक्टूबर 23 तक कुल रबी फसलों का रकबा 28.20 लाख हेक्टेयर रहा जो कि पिछले साल इस समय 17.36 लाख हेक्टेयर था

तिलहन का रकबा भी बढ़ा

इस वर्ष रबी में तिलहन की खेती में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है, कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 23 अक्टूबर तक देशभर में 1.60 लाख हेक्टेयर में रबी तिलहन की बुआई की गयी है पिछले साल इस दौरान 1.28 लाख हेक्टेयर में रबी तिलहन की फसल लग पायी थी। रबी सीजन की सबसे अहम तिलहन की फसल सरसों है।

गेहूं और अनाज का रकबा भी आगे

देशभर में गेहूं की खेती की फिलहाल शुरूआत ही हुई है लेकिन शुरुआत में ही गेहूं की खेती पिछले साल के मुकाबले आगे चल रही है, 23 अक्टूबर तक देशभर में गेहूं का रकबा 20,000 हेक्टेयर दर्ज किया गया है जबकि पिछले साल इस दौरान 15,000 हेक्टेयर में ही गेहूं की फसल लग पायी थी। 

Tags:    India 
Share it
Top