किसी को पहली तो किसी को पांचवीं बार मिली जीत

किसी को पहली तो किसी को पांचवीं बार मिली जीतpanchayat chunav lucknow uttar pradesh

सरोजनी नगर/मलिहाबाद। सरोजनी नगर ब्लॉक के कमलापुर ग्राम पंचायत की ग्राम प्रधान सुमन यादव (42) चुनाव जीतने के बाद कुछ ज्यादा खुश नज़र आ रहीं थी। खुश होने का कारण भी है 1995 से लगातार उन्हीं के घर के सदस्य प्रधान रहें हैं।

गले में फूलों की माला पहने हुए प्रमाणपत्र लेते हुए सुमन बताती हैं, सबसे पहले मेरी सास प्रधान थीं उसके बाद मेरे पति, इसबार महिला सीट होने से मैं थी और जीत भी गयी।

"हमें कुल 444 वोट मिले थें और 88 वोटों से जीते हैं" सुमन यादव के पति रघुबीर यादव ने बताया।

कमलापुर ग्राम पंचायत में दो गाँव आते हैं, कमलापुर और अलीनगर खुर्द।

रघुबीर यादव के भाई ईश्वरदीन यादव भी लगातर 1995 से पंचायत सदस्य का चुनाव जीतते आ रहे हैं और इस बार भी जीत गये हैं।

वहीं नानमऊ ग्राम पंचायत में नीरज कुमार सिंह 200 वोटों से जीते हैं। नीरज के घर के सदस्य भी पिछले 50 वर्षों से प्रधान रहे हैं।

वहीँ पर कुछ प्रत्याशियों ने मतगणना अधिकारियों पर आरोप भी लगाया। देवामऊ की पंचायत सदस्य मंजू देवी और सुमन शुक्ला को बराबर वोट मिले, लेकिन बाद में जीत सुमन शुक्ला को ही मिली। मंजू देवी ने बताया, मैं अकेले थी और हम दोनों को बराबरी में वोट मिले लेकिन नतीजा सुमन शुक्ला के पक्ष में दे दिया गया।

मलिहाबाद ब्लॉक के कैथुलिया ग्राम पंचायत के विनोद सिंह प्रधान भी लगातर दूसरी बार 254 वोटों से जीते हैं। वहीं मझौली ग्राम पंचायत की नसीबा बानो ने सिर्फ चार वोटों से दूसरी बार जीत हासिल की है।

मिरानपुर पिनवट ग्राम पंचायत की वन्दना सिंह भी लगातार तीसरी बार ग्राम प्रधान चुनी गयीं हैं। इन्हें कुल 825 वोट मिले और 170 वोटों से विजयी हुईं।

सरोजनीनगर ब्लॉक के मतगणन स्थल पर वहां का जायजा लेने पहुंचे लखनऊ के जिला अधिकारी राज शेखर

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top