कम्प्यूटर से भी तेज़ दिमाग वाली नीरजा को नहीं मिल रहा स्कूल में दाखिला

कम्प्यूटर से भी तेज़ दिमाग वाली नीरजा को नहीं मिल रहा स्कूल में दाखिलाgaoconnection

नई दिल्ली (भाषा)। जब भीषण गर्मी से बेहाल दिल्ली वाले अपने घरों और दफ्तरों में बैठकर गर्म मौसम को लेकर हाय तौबा कर रहे थे उस समय हजारों मील दूर हैदराबाद से आई विलक्षण प्रतिभा की धनी आठ साल की नन्ही नीरजा अपने 83 साल के नाना के साथ चिलचिलाती धूप में संसद मार्ग पर इस आस के साथ दस्तक देने की कोशिश कर रही थी कि उसे अपने घर सिकंदराबाद के एक अच्छे स्कूल में दाखिला मिल सके और उसकी प्रतिभा के साथ न्याय हो सके।

यह वही नीरजा निधि गुप्ता है जो अपनी विलक्षण स्मरण शक्ति की वजह से कुछ ही वक्त पहले देश के तमाम बड़े अखबारों की सुर्खियां बटोर चुकी हैं। कम्प्यूटर की गति से भी तेज चलने वाला नीरजा का दिमाग पलक झपकते ही देश के किसी भी निर्वाचन क्षेत्र के प्रतिनिधि का नाम बता सकता है। नीरजा का सामान्य ज्ञान गजब का है और उसे सामान्य ज्ञान एवं समसामयिक घटनाओं के 1300 से अधिक प्रश्नों के उत्तर जबानी याद हैं।

नीरजा के नाना के कांपते हाथों को तलाश है तो बस ऐसे रास्ते या सहारे की जो उनकी नातिन को अच्छी शिक्षा दिलाने का सपना पूरा करने में मदद कर सके। बेहद प्रतिभाशाली नीरजा और उसके नाना को एक ऐसे उचित मंच की आवश्यकता है जो उसकी प्रतिभा को सही शिक्षा दीक्षा देकर उचित मार्गदर्शन दे सके।

अपनी फरियाद को कागज के टुकडे पर लिख नीरजा और उसके नाना पिछले दो महीने से कई अधिकारियों और नेताओं के दरवाजे खटखटा चुके हैं। नीरजा के नाना नारायण चाहते हैं कि मानव संसाधन एवं विकास मंत्री स्मृति ईरानी तक वो अपनी बात पहुंचा सकें और वो उनकी नातिन को उचित सहायता मुहैया कराने में मदद करें।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top