कमज़ोर रहा मानसून फिर भी ज्यादा हो सकता है धान उत्पादन

कमज़ोर रहा मानसून फिर भी ज्यादा हो सकता है धान उत्पादन

लखनऊ देशके सबसे बड़े धान उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में कमजोर मॉनसून के बावजूद इस साल धान के उत्पादन में पिछले साल के मुकाबले बढ़ोतरी होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश कृषि विभाग के साल 2015-16 के लिए पहले एडवांस अनुमान के मुताबिक 2015-16 में खरीफ सीजन के दौरान राज्य में धान का उत्पादन136.71 लाख टन तक पहुंच सकता है। राज्य में पिछले साल खरीफ सीजन में 132.42 लाख टन धान का उत्पादन हुआ था

उत्तर प्रदेश में हुई मॉनसून की सबसे कम बरसात

मौसम विभाग के मुताबिक 30 सितंबर को खत्म हुए मॉनसून सीजन के दौरान देशभर में सबसे कम बरसात उत्तर प्रदेश में हुई है। मौसम विभाग के मुताबिक पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सामान्य के मुकाबले करीब 45 फीसदी कम बरसात दर्ज की गई है। इन हालात में धान उत्पादन बढ़ने के अनुमान से कुछ राहत जरूर मिल सकती है। उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा धान उत्पादक राज्य है, लेकिन सरकारी स्टॉक में उत्तर प्रदेश अन्य प्रमुख धान उत्पादक राज्यों के मुकाबले कम योगदान देता है। 

केंद्रीय कृषि मंत्रालय के पहले एडवांस अनुमान के मुताबिक इस साल खरीफ सीजन के दौरान देशभर में धान के उत्पादन में भारी कमी आने की आशंका जताई जा रही है। कृषि मंत्रालय के मुताबिक इस साल देशभर में खरीफ धान का उत्पादन पांच साल के निचले स्तर तक लुढ़क सकता है, उत्पादन 906.10 लाख टन होने का अनुमान लगाया गया है जबकि पिछले साल के खरीफ सीजन देश में 908.60 लाख टन धान का उत्पादन हुआ था। 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top