कोई भी नाकामी स्थायी नहीं होती: सोनिया गांधी

कोई भी नाकामी स्थायी नहीं होती: सोनिया गांधीgaonconnection, कोई भी नाकामी स्थायी नहीं होती: सोनिया गांधी

नई दिल्ली (भाषा)। चुनावों में मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने की कोशिश के तहत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज जोर देकर कहा कि ‘‘कोई भी नाकामी स्थायी नहीं होती।''       

अपने पति और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 25वीं पुण्य तिथि के अवसर पर आयोजित एक स्मृति सभा में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सोनिया ने कहा, ‘‘अपने सिद्धांतों को ताक पर रखकर हासिल की गई कामयाबी ज्यादा लंबे समय तक नहीं टिकती। यदि कोई सिद्धांतों का पालन करता है, तो कोई भी नाकामी स्थायी नहीं होती।'' पिछले दिनों संपन्न हुए असम, केरल, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद कांग्रेस आलोचनाओं का सामना कर रही है।

सामाजिक सद्भाव की वकालत करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘हमें सामाजिक सद्भाव को बढ़ावा देकर और उसे मजबूत कर भारतीय सरजमीं पर गिरे राजीव के खून के एक-एक कतरे का मोल चुकाना है।''       

सोनिया ने कहा, ‘‘हमें सादगी, आधुनिकता, सद्भाव और संवेदनशीलता के उनके मूल्यों का पालन करना होगा। वह उन्हें हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। तभी हम कह सकेंगे कि राजीव हम सब में हैं।'' युवाओं को मताधिकार दिलाने, पंचायतों को अधिकार दिलाने और दूरसंचार एवं संचार के क्षेत्र में क्रांति लाने जैसे योगदानों के लिए दिवंगत प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने देश के विकास की प्रक्रिया में युवाओं और समाज के वंचित वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित की।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top