सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री बढ़ी 

सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री बढ़ी देश में घरेलू यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर महीने में 19.92 प्रतिशत बढ़ी। उपयोगी वाहन खंड में रिकार्ड बिक्री के साथ कुल बिक्री साढ़े चार साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई। देखिए ग्राफ।

नई दिल्ली (भाषा)। अर्थव्यवस्था में तेजी, ग्राहकों के हाथ में ज्यादा नकदी, ब्याज दरों में कमी और बेहतर मॉनसून के चलते देश में घरेलू यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर महीने में 19.92 प्रतिशत बढ़ी। उपयोगी वाहन खंड में रिकार्ड बिक्री के साथ कुल बिक्री साढ़े चार साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई।

यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर में 20 प्रतिशत बढ़कर चार साल के उच्च स्तर पर

वाहन विनिर्माताओं के संगठन सोसाइटी ऑफ इंडियन आटोमोबाइल मैनुफैक्चरर्स (सियाम) के आंकड़े के अनुसार सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री 2,78,428 इकाई रही जो पिछले साल इसी महीने में 2,32,170 इकाई थी। इससे पहले मार्च 2012 में बिक्री 2,95,403 इकाई रही थी। उपयोगी वाहनों की बिक्री पिछले महीने 37.93 प्रतिशत बढ़कर 66,851 इकाई रही जो एक साल पहले 48,467 इकाई थी। दूसरी तरफ कार की बिक्री 15.14 प्रतिशत बढ़कर 1,95,259 इकाई रही जो जो पिछले साल इसी महीने में 1,69,590 इकाई थी। बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए सियाम को उम्मीद है कि यात्री वाहन खंड में वृद्धि चालू वित्त वर्ष में 10-13 प्रतिशत के दायरे में रहेगी।


उद्योग त्यौहरों के लिए तैयारी में है। हम इस साल पिछले वर्ष के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे हैं।
विष्णु माथुर, महानिदेशक सियाम

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-सितंबर अवधि में यात्री वाहन खंड में वृद्धि दर पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 12.34 प्रतिशत रही। उपयोगी वाहनों की बिक्री इसी अवधि में 40.24 प्रतिशत बढ़ी जबकि यात्री कार की बिक्री 5.11 प्रतिशत बढ़ी। सितंबर में प्रमुख कंपनी मारूति सुजुकी इंडिया की यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री 29.41 प्रतिशत बढ़कर 1,37,277 इकाई रही। कंपनी ने सितंबर महीने में 1,05,236 कारों की बिक्री की जो पिछले साल इसी महीने में 87,916 इकाई की तुलना में 19.7 प्रतिशत अधिक है।

हुंदै मोटर्स इंडिया की बिक्री आलोच्य महीने में 42,605 इकाई रही। कंपनी की कार की बिक्री सितंबर महीने में 4.12 प्रतिशत घटकर 33,742 इकाई रही जो एक वर्ष पूर्व इसी महीने में 35,193 इकाई थी।

महिंद्रा एंड महिंद्रा की यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर में 4.97 प्रतिशत बढ़कर 20,537 इकाई रही। उसके उपयोगी वाहनों की बिक्री आलोच्य महीने में 2.61 प्रतिशत बढ़कर 19,206 इकाई रही जो एक वर्ष पूर्व इसी महीने में 18,717 इकाई थी।

दोपहिया वाहनों की बिक्री भी 18,68,993 इकाई हुई

सियाम के अनुसार सितंबर में कुल दोपहिया वाहनों की बिक्री 21.59 प्रतिशत बढ़कर 18,68,993 इकाई रही जो एक वर्ष पूर्व इसी महीने में 15,37,104 इकाई थी।

मोटरसाइकिल की बिक्री आलोच्य महीने में 16.33 प्रतिशत बढ़कर 11,86,770 इकाई रही जो पिछले साल सितंबर महीने में 10,20,204 इकाई थी। हीरो मोटो कार्प की बिक्री इस साल सितंबर महीने में 5,70,591 इकाई रही जो इससे पूर्व वर्ष के इसी महीने में 5,26,658 इकाई थी।

बजाज आटो की बिक्री आलोच्य महीने में 22.79 प्रतिशत बढ़कर 2,30,502 इकाई रही जो सितंबर 2015 में 1,87,711 इकाई थी।

हालांकि, होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया :एचएमएसआई: की मोटरसाइकिल बिक्री सितंबर महीने में 24.82 प्रतिशत बढ़कर 1,83,785 इकाई रही जो पिछले साल सितंबर में 1,47,229 इकाई थी।

स्कूटर खंड में कुल बिक्री आलोच्य महीने में 30.6 प्रतिशत बढकर 6,03,818 इकाई थी जो पिछले साल इसी महीने में 4,62,341 इकाई थी। सियाम के अनुसार हालांकि, वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री आलोच्य महीने में 1.95 प्रतिशत घटकर 61,621 इकाई रही जो एक साल पहले सितंबर महीने में 62,845 इकाई थी। विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की कुल बिक्री इस वर्ष सितंबर में 20.16 प्रतिशत बढ़कर 22,60,992 इकाई रही जो एक साल पहले इसी महीने में 18,81,643 इकाई थी।

ग्राहकों के हाथ में नकदी का आना बड़ा कारण : अब्दुल माजिद

प्राइस वॉटरहाउस के भागीदार अब्दुल माजिद के मुताबिक इस साल आगे भी वाहनों की बिक्री में तेजी जारी रहने की संभावना है। माजिद ने बताया, "इसके पीछे कई मिलेजुले कारण हैं। जैसे अर्थव्यवस्था में तेजी, ग्राहकों के हाथ में ज्यादा नकदी आना, अवसंरचना में सार्वजनिक निवेश में बढ़ोतरी, नए-नए वाहनों का लांच होना, ब्याज दरों में कमी और बेहतर मॉनसून आदि।" उन्होंने बताया, "आपूर्ति पक्ष में कमी को दूर करने के लिए उठाए गए कदमों के कारण मुद्रास्फीति काबू में रही है। लेकिन एक खंड भारी और मध्यम भारी वाणिज्यिक वाहन में बिक्री में कमी आई है। लेकिन जैसे जैसे अर्थव्यवस्था में निजी निवेश रफ्तार पकड़ेगी। इस खंड में बिक्री में तेजी आएगी।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top