प्याज की कीमतों को काबू करने के लिए उठाएं कदम : केंद्र सरकार  

प्याज की कीमतों को काबू करने के लिए उठाएं कदम : केंद्र सरकार  प्याज की कीमतें 15 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर 28.94 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई हैं।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। जरूरी वस्तुओं की कीमतों को काबू में रखने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्याज की जमाखोरी, मुनाफाखोरी और सट्टेबाजी में लिप्त डीलरों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। यहां मंगलवार को जारी बयान के मुताबिक केंद्र सरकार ने 25 अगस्त को अधिसूचित अपने आदेश में कहा है कि डीलरों के पास प्याज की सीमा निर्धारित करने से लेकर अन्य कदम उठाएं।

पिछले कुछ दिनों से प्याज की कीमतों में एकाएक तेजी देखने को मिल रही है, जबकि साल 2016 की समान अवधि की तुलना में इस साल प्याज की आपूर्ति और उत्पादन बेहतर है। इन्हें देखते हुए सरकार का कहना है कि प्याज की कीमतों में अनावश्यक वृद्धि के लिए जमाखोरी और सट्टेबाजी ही जिम्मेदार है।

यह भी पढ़ें : आलू और प्याज के किसानों का दूर होगा संकट 58 नए कोल्ड स्टोरेज बनेंगे


बयान में कहा गया, "इसलिए, राज्यों/संघ शासित प्रदेशों को उन व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई करना जरूरी है, जो प्याज में सट्टा कारोबार, जमाखोरी और मुनाफाखोरी में लगे हुए हैं।" बयान में कहा गया है कि इन उपायों से कीमतों को उचित स्तर तक लाने और उपभोक्ताओं को तत्काल राहत देने की उम्मीद है।

अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य के अनुसार, प्याज की कीमतें 15 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़कर 28.94 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई हैं। महानगरों की बात करें तो चेन्नई में प्याज 31 रुपये प्रति किलोग्राम, दिल्ली में 38 रुपये, कोलकाता में 40 रुपये और मुंबई में 33 रुपये प्रति किलोग्राम तक की कीमत पर बिक रही है।

यह भी पढ़ें : टमाटर के बाद अब महंगा हुआ प्याज, महंगाई के ये हैं 2 कारण

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top