फिर महंगा हुआ प्याज, आगे भी बढ़ सकते हैं दाम

vineet bajpaivineet bajpai   10 Oct 2017 8:37 PM GMT

फिर महंगा हुआ प्याज, आगे भी बढ़ सकते हैं दाममहंगा हुआ प्याज।

लखनऊ। पिछले दिनों मंडियों में 16 रुपए किलो तक बिकने वाले प्याज की कीमतें एक बार फिर आसमान पर पहुंचने को तैयार हैं। फुटकर बाजार में आज प्याज 30 से 35 रुपए किलो बिक रहा है। जबकि यही प्याज बंपर उत्पादन के बाद एमपी में दो रुपए किलो तक पहुंच गया था, हंगामे और प्रदर्शन के बाद शिवराज सरकार ने 8 रुपए किलो खरीदने का ऐलान किया। लेकिन अब यही प्याज आम लोगों के आंसू निकालने को तैयार है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की फुटकर बाजारों में प्याज 30-35 रुपए किलो बिका रहा है। फोन पर हुए बात में इंदौर के किसान दिलाप मुकाती ने बताया कि इस समय इंदौर में प्याज 25 से 27 रुपए किलो बिक रहा है, जबकि एक हफ्ते पहले यही प्याज 16 से 18 रुपए किलो बिक रहा था।

ये भी पढ़ें - ये है दुनिया की सबसे महंगी सब्ज़ी, क़ीमत पर नहीं कर पाएंगे यक़ीन

प्याज की बढ़ रही कीमतों के बारे में उन्होंने बताया, ''अभी नासिक का जो नया प्याज आने वाला था वो मार्केट में आ नहीं पाया क्योंकि वहां बारिश हो गई, जिस वजह से प्याज की खुदाई नहीं हो पाई। इसके अलावा जो पुराना प्याज था वो काफी मात्रा में खराब हो गया, क्योंकि इस बार गर्मी बहुत ज्यादा हुई है।'' उन्होंने बताया, ''मेरे पास इस समय 200 कट्टे प्याज के हैं, जिसमें से छटाई कराने पर मात्र 50-60 कट्टे प्याज ही सही निकलेगा।''

ये भी पढ़ें - भारत में कृषि के ये हैं प्रचलित तरीके, देश भर के किसान करते हैं इस तरह खेती

देश में प्याज की सबसे बड़ी मंडी महाराष्ट्र के लासलगाँव में स्थित हैं। राष्ट्रीय बागवानी अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान (NHRDF) से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार बीती तीन अक्टूबर को लासलगाँव की मंडी में प्याज 1610 रुपए प्रति कुंतल था और पांच दिन बाद इसकी कीमतें बढ़ कर 2510 रुपए प्रति कुंतल तक पहुंच गई।

ये भी पढ़ें - विदेश में 45 लाख रुपये सलाना की नौकरी छोड़ बने किसान, अब कमाई जान कहेंगे वाह

वहीं अगर हम लखनऊ की मंडी में प्याज की कीमतों की बात करें तो यहां तीन अक्टूबर को प्याज 1600 रुपए प्रति कुंतल बिक रहा था और छह दिन बाद इसकी कीमतें बढ़ कर 1950 रुपए पर पहुंच गई हैं।

प्याज की बढ़ती कीमतों के बारे में जब मंडी परिषद, यूपी के निदेशक धीरज कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा, ''मंडियों में किसी भी कृषि उत्पाद का रेट निर्धारित नहीं होता है। आवक के आधार पर रेट घटता- बढ़ता है। अभी नए प्याज की आवक शुरू नहीं हुई है इस वजह से कीमतें बढ़ी हैं, नई आवक आने पर प्याज़ के धाम घट जाएंगे।''

ये भी पढ़ें - शहर की नौकरी छोड़ गाँव में बना रहे टोमैटो सॉस, साल की कमाई 30 लाख

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top