दालों के निर्यात की अनुमति देने से उसकी कीमतें नहीं बढ़ेंगी : राधामोहन सिंह

दालों के निर्यात की अनुमति देने से उसकी कीमतें नहीं बढ़ेंगी : राधामोहन सिंहदाल बेचता एक दुकानदार

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने आज कहा कि दालों के निर्यात की अनुमति देने से उनकी कीमतों पर कोई असर नहीं पड़ेगा तथा अनुमति देने के पहले पर्याप्त बफर स्टाक कर लिया गया है।

कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने राज्यसभा में प्रश्नकाल में विभिन्न पूरक सवालों के जवाब में कहा कि निर्यात की छूट देने से कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दालों के उत्पादन में वृद्धि हो रही है और पिछले साल उनका रिकार्ड उत्पादन हुआ।

ये भी पढ़ें- दालों के निर्यात पर प्रतिबंध समाप्त, सभी तरह की दालों का हो सकेगा निर्यात

अधिक उत्पादन होने से कीमतों में कमी आने की सदस्यों द्वारा आशंका जताने के बीच उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य से कीमत कम होने की स्थिति में मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) का उपयोग किया जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति के लिए मूल्य स्थिरीकरण कोष का भी उपयोग किया जाता है।

ये भी पढ़ें- एकमात्र अमेरिकी राष्ट्रपति जो दाल पका सकता है पर रोटी बनाने से घबराता है

कृषि व्यापार से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

राधामोहन सिंह ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य के तहत खरीदारी के लिए एक नई व्यवस्था के संबंध में राज्यों की राय की खातिर उन्हें पत्र लिखा गया है।

उन्होंने कहा कि नई व्यवस्था में इस बात पर जोर होगा कि राज्य खरीदारी करेंगे और पूरी राशि केंद्र सरकार देगी। उन्होंने कहा कि इसका मकसद किसानों को परेशानी से बचाना और इस बात पर जोर देना है कि सबको न्यूनतम समर्थन मूल्य मिल सके।

ये भी पढ़ें- निर्यात प्रतिबंध हटने से उड़द और मसूर दाल कीमतों में तेजी

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top