कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से सूखे को लेकर 12,272 करोड़ रुपए की मांग की

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से सूखे को लेकर 12,272 करोड़ रुपए की मांग कीgaonconnection, कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से सूखे को लेकर 12,272 करोड रुपए की मांग की

नई दिल्ली (भाषा)। पिछले चार दशकों में कर्नाटक के सबसे भीषण सूखे से जूझने के बीच वहां के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने पेयजल और चारे की आपूर्ति में सुधार के लिए आज अतिरिक्त 12,272 करोड़ रुपए की मांग की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां उनके साथ राज्य की स्थिति की समीक्षा की।

उन्होंने 2015-16 के फसल वर्ष के रबी सीजन में हुए नुकसान से उबरने के लिए पहले मंजूर की गयी 723 करोड़ रुपए की राहत भी केंद्र से यथाशीघ्र जारी करने की इच्छा जताई।

भेंट के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने राज्य के सामने मौजूद समस्याओं को बहुत धैर्य से सुना। मैंने उन्हें विस्तार से सूखे की स्थिति के बारे में बताया और अतिरिक्त 12,272 करोड़ रुपए की मांग की।''

सिद्धरमैया ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 11 सूखा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद आश्वासन दिया कि वह यथासंभव मदद करेंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री को बताया कि फसल वर्ष 2015-16 के खरीफ सीजन के दौरान 30 में से 27 जिलों में 15,635 करोड़ रुपए की फसल नष्ट हो गयी जबकि रबी सीजन में सूखे के चलते 12 जिलों में 7000 करोड़ रुपए की नुकसान होने का अनुमान है।

उन्होंने यह भी बताया कि सूखे के चलते पेयजल की समस्या और गहरा गयी है तथा बड़ी नदियां एवं जलाशय पानी की भारी कमी से जूझ रहे हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय के एक बयान के अनुसार प्रधानमंत्री ने राज्य सरकार से मानसून से पहले अगले 30-40 दिनों के दौरान जलाशयों से गाद हटाने, छोटे तालाब तथा चैक डैम बनाने पर अधिकतम ध्यान देने की अपील की। बयान में कहा गया है कि केंद्र और राज्य को सूखे की इस समस्या से निबटने के लिए मिलकर काम करना चाहिए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top