Top

कृषि तकनीक को खेतों तक पहुंचाना ज़रूरी: राधामोहन

कृषि तकनीक को खेतों तक पहुंचाना ज़रूरी: राधामोहनgaonconnection

नई दिल्ली(भाषा। किसानों के खेतों तक नई प्रौद्योगिकी को पहुंचाने के लिए कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कृषि वैज्ञानिकों से अपील की है कि वे प्रयोगशालाओं से नई तकनीक की जानकारी किसानों को दें जिससे उनकी आमदनी में इजाफा हो सके।

सरकार ने पांच साल में किसानों की आय का स्तर दो गुना करने का लक्ष्य रखा है। कृषि मंत्री यहां भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के 88वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। सिंह ने कहा, “हमारी सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दो गुना करने का लक्ष्य रखा है। हम इस लक्ष्य के लिए केवल कृषि कार्य पर ही ध्यान नहीं देंगे बल्कि कृषि से जुड़े दूसरे क्षेत्रों पर भी जोर दिया जाएगा।” 

उन्होंने कहा कि किसानों की आय बढाने के लिए समन्वित खेती बाड़ी जरुरी है। इसे बढ़ावा देने के लिए देश भर में आईसीएआर के संस्थानों में किसानों को ऐसी किसानी के लाभों से परिचित कराया जाएगा। कृषि मंत्री ने कहा, “समन्वित कृषि से एक किसान परिवार साल में तीन लाख रुपए तक की बचत कर सकता है।”

सिंह ने कहा कि कृषि उत्पादन बढ़ाने में प्रौद्योगिकी की बड़ी भूमिका है। “मैं वैज्ञानिकों और संस्थानों को इस काम पर ध्यान देने की अपील करता हूं। यह सुनिश्चित किया जाए कि नए उत्पाद बाजार में जरुर पहुंचें।'' उन्होंने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने में मदद के लिए मुर्गीपालन, मछली पालन और दुग्धउत्पादन जैसे कामों के प्रोत्साहन पर भी ध्यान दिया जाएगा।

मंत्रियों ने 2016 के आईसीएआर पुरस्कार भी वितरित किए। कुल 19 वर्गों में दिए जाने वाले इन पुरस्कारों के लिए इस बार कुल 119 वैज्ञानिकों, किसानों और पत्रकारों को चुना गया था।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.