कृत्रिम गर्भाधान: पैदा होंगी सिर्फ बछिया

कृत्रिम गर्भाधान: पैदा होंगी सिर्फ बछियागाँव कनेक्शन

बाराबंकी। प्रदेश सरकार पशुपालकों को लाभ देते हुए गायों में ऐसा सीमेन देने जा रही है, जिससे शत प्रतिशत बछिया ही जन्मेगी। पशुपालन विभाग का यह पायलेट प्रोजेक्ट बाराबंकी, इटावा, लखीमपुर जैसे जिलों में शुरू किया जाएगा।

अमेरिका और कनाडा जैसे देश जहां पर ऐसा सीमेन तैयार किया जाता है, जिससे केवल बछिया पैदा होती है। उन देशों से सरकार ग्लोबल टेण्डर के जरिए सस्ता सीमेन मंगा रही है। इस सीमेन का नाम सेक्स सेल्टोस रखा गया है। प्रदेश सरकार के इस प्रोजेक्ट को अभी तीन जिलों मे लागू कर दिया है इस प्रोजेक्ट की सफलता के बाद ही इसको पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा।

वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में दो करोड़ 41 लाख पशु बच्चा देने योग्य है। उत्तर प्रदेश में प्रति गाय दुग्ध उत्पादन ढाई लीटर और प्रति भैंस दुग्ध उत्पादन साढ़े चार लीटर है।

लखनऊ स्थित उत्तर प्रदेश पशुधन विकास परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ.बीबीएस यादव बताते हैं, ''प्रदेश सरकार का यह अच्छा कदम है इसके जरिए हम उच्च गुणवत्ता वाली बछिया को पैदा कर सकेंगे।’’

''अभी शुरुआत में तीन जिलों के बीस हजार पशुओं को चयनित किया गया है। इससे एक और फायदा यह भी होगा जो लोग बछड़े को छोड़ देते थे जिससे किसानों की फसलों को भी काफी नुकसान होता था इससे भी लोगों को राहत मिलेगी।’’ डॉ. बीबीएस यादव आगे बताते हैं।

पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन विभाग के अनुसार पिछले तीन वर्षों के दौरान देश में कुल दुग्ध उत्पादन और उत्तर प्रदेश में दुग्ध उत्पादन में कमी नहीं आई है। इसको रोकने के लिए यह एक अच्छा प्रयास है।

''लखीमपुर, बाराबंकी और इटावा के डॉक्टरों को प्रशिक्षण के लिये पूना भेजा जायेगा ताकि वह यहां इसका सफल प्रयोग कर सके।’’ डॉ यादव ने बताया।

गाँव कनेक्शन ने दिया था सरकार को सुझाव

दो दिसम्बर को स्वयं अवार्ड समारोह में गाँव कनेक्शन ने सरकार को यह सुझाव दिया था कि अच्छी गुणत्ता वाले पशुओं के लिए सरकार को निजी कंपनियों से सहभागिता बढ़ानी चाहिए ताकि प्रति गाय दुध उत्पादकता को भी बढ़ाया जा सके और नस्ल का सुधार भी हो। सुझाव को सही मानते हुए प्रदेश सरकार ने यह कदम उठाया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top