कश्मीर में तीसरे दिन भी प्रकाशित नहीं हुआ समाचारपत्र

कश्मीर में तीसरे दिन भी प्रकाशित नहीं हुआ समाचारपत्रgaonconnection

श्रीनगर (भाषा)। कश्मीर घाटी में व्यापक प्रर्दशनों के कारण सरकार द्वारा मीडिया पर कथित रुप से ‘पाबंदी' लगाये जाने के बाद कर्फ्यू वाले कश्मीर में आज लगातार तीसरे दिन भी समाचार पत्रों का प्रकाशन नहीं हुआ।

शुक्रवार रात में सरकार द्वारा ‘पाबंदी' लगाए जाने के कारण समाचार पत्र के मालिकों ने अख़बार नहीं छापने का निर्णय लिया जिसके कारण अंग्रेजी, उर्दू या कश्मीरी किसी भी भाषा में दैनिक स्थानीय समाचार पत्रों का प्रकाशन नहीं हुआ। जम्मू कश्मीर पुलिस ने यहां शहर के बाहरी इलाके में रानग्रेट इंडस्टरीयल एस्टेट में दबिश देकर कथित तौर पर कम से कम दो प्रिंटिंग प्रेसों के कार्यालयों को बंद कर दिया और छपे हुये समाचार पत्रों और समाचार पत्रों की प्लेटों को जब्त कर लिया था।

स्थानीय समाचार एजेंसियों ने भी कहा है कि कथित तौर पर पुलिस द्वारा उन्हें समाचार नहीं देने के बारे में कहे जाने पर उन्होंने भी अपना समाचार बुलेटीन रोक दिया है। घटनाओं पर अधिकारिक प्रतिक्रिया हासिल करने के प्रयासों पर सफलता नहीं मिल सकी है।

पुलिस की कार्रवाई के बाद, कश्मीर स्थित समाचार पत्रों के संपादकों, प्रिंटर्स और प्रकाशकों की प्रेस कॉलोनी में शनिवार को एक बैठक आयोजित की गयी थी जिसमें इस मुद्दे पर चर्चा की गयी। कथित पाबंदी के खिलाफ पत्रकारों ने भी एक प्रदर्शन किया और और इसे प्रेस की स्वतंत्रता पर एक हमला करार दिया।

कश्मीर के समाचार पत्रों के संपादकों, प्रिंटरों और प्रकाशकों ने एक बयान में कहा है कि वह सरकार की कथित कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हैं। इसमें बताया गया है कि शनिवार बैठक के दौरान जब उन्होंने एक सरकारी प्रवक्ता से संपर्क करने का प्रयास किया तो उन्होंने बताया कि कश्मीर घाटी में अगले तीन दिनों में अशांति भंग होने की गंभीर समस्या की आशंका को देखते हुये कर्फ्यू लगाया गया है और ऐसे में प्रेस कर्मियों की गतिविधि और समाचार पत्रों का वितरण संभव नहीं होगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top