कुर्मी समाज से मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने वाली पार्टी को 2017 में देंगे वोट: महासंघ

कुर्मी समाज से मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने वाली पार्टी को 2017 में देंगे वोट: महासंघgaonconnection

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश में लगातार राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है। जातीय संगठन अपनी मांगों को लेकर खुलकर आवाज़ उठाने लगे हैं। कुर्मी स्वाभिमान महासंघ ने ऐलान किया है, जो पार्टी 2017 में कुर्मी समाज से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार चुनेगी उसे ही वोट दिया जाएगा। 

त्रिवेदीगंज ब्लॉक के बैजनाथ इंटर कॉलेज आयोजित कुर्मी स्वाभिमान महासंघ के सम्मलेन में समाज से जुड़े हजारों लोग शामिल हुए। इस दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए महासंघ के राष्ट्रीय संयोजक और पूर्व राज्य मंत्री सुशील कटियार ने कहा, “कुर्मी सरकार बनाने में अपनी भागीदारी देते रहे हैं लेकिन उसकी हिस्सेदारी कहीं नहीं दिखती।

प्रदेश और देश की सरकारें अब बेवफाई करने पर आ चुकी हैं, जबकि देश की 15 फीसदी आबादी उनके समाज की है। हम लोगों ने सबको मौके दिए लेकिन केंद्र और राज्य सरकारों की रगों में बेवफाई का खून भर गया है और इसीलिये अब कुर्मी स्वाभिमान महासंघ के माध्यम से उनकी बिरादरी ये खून साफ कर देगी।”

                                   

कटियार ने कहा कि 2017 में समाज के लोग उसी पार्टी को वोट करेंगे जो पार्टी उनके समाज (कुर्मी) से प्रदेश का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करेगी। इसके लिए महासंघ 45 जनपदों में दौरे, गोष्ठी और सभाएं करके लोगों को जागरुक करेगा। कुर्मी सरकार बनाने में अपनी भागीदारी देते रहे हैं लेकिन उसकी हिस्सेदारी कहीं नहीं दिखती।" 

इस दौरान महासंघ की महिला कार्यकर्त्री साधना पटेल ने कहा, “अब महिलाओं और लड़कियों के भविष्य के बारे में सोचना मजबूरी हो गयी है क्योंकि उनके बिरादरी को कहीं नौकरियां नहीं मिलती हैं। बसपा और सपा दोनों जातिगत राजनीति करते हैं जिससे सिर्फ उनके ही समाज के लोग सरकारी नौकरियों में लिए जाते हैं कुर्मी बिरादरी के किसी भी व्यकि्त को सरकारी नौकरी ने नहीं लिया जाता।”

उन्होंने कहा, "आज कुर्मी समाज की महिलाएं जाग चुकी हैं और आने वाले समय में समाज को सम्मान और अधिकार दिलाने का काम करेंगी।”

सम्मेलन में बाराबंकी के अलावा कई जिलों के लोग शामिल हुए। इस दौरान रायबरेली जिले के सेहगों निवासी राजकुमार वर्मा, शशि सचान, अवधेश कटियार, अनुज पटेल, महेश प्रधान, राकेश बजाज, चन्द्र भान सिंह पटेल, रामदेव पटेल, बृजेश वर्मा और पवन पटेल ने भी संबोधित किया।

रिपोर्टर - सतीश कश्यप

Tags:    India 
Share it
Top