क्या करें किसान: नहरें सूखी, सरकारी नलकूप ठप

क्या करें किसान: नहरें सूखी, सरकारी नलकूप ठपगाँव कनेक्शन

अमेठी। जिले में जहां समय पर बरसात ना होने से सिंचाई के लिए लोगों को न नहर का पानी नसीब हो रहा है और ना ही सरकारी नलकूपों को सहारा मिल पा रहा है।

अमेठी जि़ला मुख्यालय से 11 किलोमीटर दक्षिण दिशा में दौलतपुर गाँव के सुरेश यादव (48 वर्ष) बताते हैं, "गाँव से सटी नहर

की मदद से यहां के किसान अपने खेतों की सिंचाई करते हैं पर अभी तक इसमें पानी नहीं छोड़ा गया है, जिससे खेत में सिंचाई करने में परेशानी हो रही है।" 

अमेठी जि़ले में मऊ, मंगौली और बहादुरपुर गाँवों में राजकीय नलकूप खराब पड़े रहने से किसानों में नाराज़गी है। 

किसानों की सुविधा के लिए सरकार ने नहर व नलकूप की मदद से सिंचाई में लाभ पहुंचा रही है। लेकिन किसानों को समय से इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। नहर व नलकूपों की बदहाल स्थिति को सुधारने की बात पर खंड अधिशासी अभियंता आर पी सिंह बताते हैं, "जिले में नहरों की सफाई का कार्य प्रगति पर है। काम पूरा होने के बाद नहरों में पानी छोड़ा जाएगा।"

इस समय किसान गेहूं की बुवाई के लिए खेतों में पानी के लिए नहरों पर आश्रित हैं, पर समय पर पानी न छोड़े जाने के कारण नहरें सूखी पड़ी हैं। जबकि तकनीकी खराबी के चलते कई गाँवों में नलकूप व्यवस्था भी ठप पड़ी है।

Tags:    India 
Share it
Top