लापरवाही पर अधिकारियों का वेतन रुका

लापरवाही पर अधिकारियों का वेतन रुकागाँव कनेक्शन

प्रतापगढ़। नए जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने जिले की कमान संभालते ही अधिकारियों की ख़बर लेनी शुरू कर दी, साथ ही लंबित पड़े कार्यों को सही समय पर करने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी ने जिले के सभी खंड विकास अधिकारियों सहित बाल विकास परियोजना अधिकारियों का वेतन रोकने का आदेश दे दिया है।

जिलाधिकारी ने विकास कार्यक्रमों की समीक्षा दौरान जिले में अति कुपोषित कुल बच्चों की फीडिंग की जानकारी चाही। मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र बहादुर ने बताया कि अभी 50 प्रतिशत ही फीडिंग हो पायी है। जिलाधिकारी ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए कहा की जब तक इन सभी कुपोषित बच्चों की फीडिंग पूरी नहीं हो जाएगी तब तक जिला कार्यक्रम अधिकारी सहित बाल विकास परियोजना अधिकारियों का वेतन रोक लिया जाएगा। साथ ही खण्ड विकास अधिकारियों का वेतन रोकने का भी आदेश दे दिया है। मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र बहादुर सिंह ने जिले के सभी खण्ड विकास अधिकारियों, सभी विकास खण्डों के एपीओ और एकाउन्टेन्ट की मीटिंग बुलायी थी। 

मीटिंग के दौरान जिलाधिकारी ने इन्दिरा आवास के लिये प्रथम व द्वितीय किस्त जारी करने के साथ ही मनरेगा, लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना सहित अन्य विकास योजनाओं की समीक्षा के दौरान ऑनलाइन फीडिंग जैसे कार्यक्रमों में अधिकतर विकास खण्डों की प्रगति मानक के अनुरूप नहीं पायी गयी। मुख्य विकास अधिकारी ने जिले में चल रहे कार्यक्रमों के बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया जिस पर जिलाधिकारी ने मानक के अनुरूप प्रगति लाने तक के लिये खण्ड विकास अधिकारियों का वेतन रोकने का आदेश दिया है।

प्रेस लिखे वाहनों की होगी चेकिंग

अब जिले में कोई भी अपने दोपहिया-चारपहिया वाहन में फर्जी प्रेस लिखकर नहीं चल पाएगा। जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने कहा कि प्रेस लिखे वाहनों की भरमार को देखते हुए उनकी चेकिंग करायी जाएगी और चेकिंग दौरान यह पाया जाएगा कि वाहन पर फर्जी रूप से प्रेस लिखा है तो ऐसे वाहन मालिकों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। पुलिस अधीक्षक एमपी वर्मा ने बताया कि सभी थानाध्यक्षों को प्रेस उत्पीडऩ की किसी भी घटना के लिये सचेत किया गया है और जिलाधिकारी के निर्देशानुसार प्रेस लिखे वाहनों की चेकिंग अभियान चलाया जायेगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top