लगाए गए पौधे बचाए गए तभी मेहनत सफल होगी: कृषि सलाहकार

लगाए गए पौधे बचाए गए तभी मेहनत सफल होगी: कृषि सलाहकारgaonconnection

बाराबंकी। ग्रीन यूपी क्लीन यूपी मिशन के तहत बाराबंकी में करीब सवा नौ लाख पौधे लगाए गए। इस दौरान अधिकारियों, किसानों और स्थानीय लोगों ने न सिर्फ पौधे लगाए बल्कि उन्हें संरक्षित रखने का भी प्रण लिया।

पौधे रोपण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश कृषि एवं कृषि शिक्षा सलाहकार डॉ रमेश यादव ने इस दौरान किसानों से कहा, “आज की मेहनत और इन पौधों का लगाना तभी सार्थक होगा जब हम इनकी रक्षा भी करें। पौधे पेड़ बनेंगे तो पर्यावरण तो बचाएंगे ही, हमारी आमदनी का भी जरिया बनेंगे।”

सोमवार को पौधे लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाने के दौरान बाराबंकी जिले में कुल 9 लाख 12 हजार, 91 पौधे जिले में लगाए गए। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता बेनी प्रसाद वर्मा समेत कई नेताओं, जिलाधिकारी अजय यादव समेत लगभग सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। पौध रोपण कार्यक्रम में जिले के कृषि विभाग ने अहम भूमिका निभाई। जिलाधिकारी अजय यादव द्वारा दिशा निर्देश दिया गया था की जिले में सभी 15 विकास खण्डों को जनपद स्तरीय अधिकारीयों को नोडल अधिकारी नियुक्त कर वृक्षारोपड़ किया जाएगा, जिसमे सभी विकास खण्डों के नोडल अधिकारीयों की निगरानी इस महत्त्व पूर्व वृक्षारोपड़ कार्यक्रम पर थी।

भूमि संरक्षण अधिकारी (गोमती ) राम कुमार यादव ने बताया, “त्रिवेदीगंज में भूमि संरक्षण इकाई गोमती बाराबंकी के बेहटा ( द्वित्तीय ) में भूमि सेना योजनाअन्तर्गत वृहद वृक्षारोपड़ कार्यक्रम के अंतर्गत मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश कृषि एवं कृषि शिक्षा सलाहकार डॉ रमेश यादव उपस्थित ने तीन पौधे लगातर अभियान की शुरूआत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि ये पौधे बचाना भी हमारी जिम्मेदारी है।

जिला कृषि अधिकारी राम कुमार यादव ने बताया, “विभाग की कोशिश रही है ऐसे पेड़ ज्यादा से ज्यादा लगवाए जाएं तो बाद में किसानों की आदमनी का जरिया भी बनें, इसलिए जिले में 400 दशहरी के पेड़ किसानों के यहां लगवाए गए हैं। किसानों ने खुद इन्हें बचाने का प्रण लिया।”

बेहटा में आयोजित कार्यक्रम उप कृषि निदेशक (भूमि संरक्षण ऊसर ) लखनऊ मंडल नीरज कुमार श्रीवास्तव उप कृषि निदेशक बाराबंकी एसपी सिंह भूमि संरक्षण, जिला कृषि रक्षा अधिकारी डॉ एल एस यादव एवं भूमि संरक्षण अधिकारी कुर्सी हरिशंकर भार्गव समेत काफी  संख्या में कृषक मौके पर मौजूद रहे। कृषि विभाग के अधिकारियों ने इस दौरान कई किसानों की समस्याओं का न सिर्फ समाधान और उन्हें मदद का भरोसा भी दिया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top