लोगों का ख़ुद को फिट रखने के लिए बढ़ा क्रेज

लोगों का ख़ुद को फिट रखने के लिए बढ़ा क्रेजगाँवकनेक्शन

लखनऊ। फिटनेस आजकल जरूरत के अलावा ट्रेंड भी बनता जा रहा है। लोग खुद को फिट रखने के लिए कई माध्यमों का प्रयोग करने लगे हैं जैसे योगा, ऐरोबिक, डांस थैरेपी और जिम ऐसे ही कई माध्यम भी हैं। आज कल जो सबसे ज्यादा प्रचलित माध्यम है वह है जिम। फिल्म स्टार हो या बिजनेस मैनए माडल हो या सैलिब्रेटी सभी खुद को फिट रखने के लिए जिम जाते है क्योंकि यह उनकी इच्छा का ही सवाल नहीं बल्कि उनके  प्रोफेशन से भी जुड़ा है। चौक स्थिति ‘अल्टीमेट फिटनेस जिम’ के मालिक और फिटनेस ट्रेनर सुमित अग्रवाल ने बताया, “आजकल यूं तो फिट रहने के लिए जिम जाना आम बात होती जा रही है। कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको वजन घटाने की जरूरत नहीं होती है फिर भी लोग जिम जाते हैं क्योंकि वो अपने हेल्थ को लेकर बहुत ही जागरूक होते हैं। ऐसे में इन लोगों को ‘राइट डाइट राइट जिम’ का होना बहुत जरूरी होता है।” सुमित अग्रवाल आगे बताते हैं श्आप जिम में जो एक्सासाइज कर रहे हैं वो सही हों और नियमों को ध्यान में रख कर ही वर्कआउट करें। 

दरअसल किसी की भी फिटनेस उसकी जिम करने की क्षमता और जिम में उसकी वर्कआउट की क्षमता तथा वहा के माहौल पर निर्भर करती है। स्वस्थ रहने के प्रति बढती अवेयरनेस के चलते आजकल जिम जाने वालो की संख्या काफी बढ गयी है। 

कैसा हो खान-पान

केजीएमयू की डाइटीशियन जिम करते हुए खान-पान का उचित ध्यान रखें आैर कोई सप्लीमेंट ले रहे हैं तो ट्रेनर या डॉक्टर की सलाह से ही लें। डाॅ. गरिमा बता रही हैं कि जिम करते समय कैसा हो आपका खान-पान-

  1. हरी साग सब्जी खाएं
  2. सलाद का सेवन करें
  3. दिन भर में पांच रंग के फल खाएं
  4. भरपूर पानी पिएं।

जिम करने के फायदे

  1. शरीर को स्वस्थ रखता है  
  2. दिमाग को तनाव मुक्त रखता है
  3. स्टेमिना को बढ़ता है
  4. जिम करने से जस्मी फुर्तिला रहता है

इन बीमािरयों से रहें दूर

  1. बल्ड प्रेशर को नियंत्रित करता है।
  2. डाइिबटीज होने की सम्भावना को कम करता है।  
  3. मानिसक तनाव को कम करता है।

ज्यादा वर्कआउट करना होता सकता है खतरनाक

सुमित अग्रवाल बताते हैं कि ज्यादा वर्कआउट करने से लोअर पार्ट में परेशानी आ सकती है। वर्कआउट एक से ड़ेढ घंटे से ज्यादा नहीं करना चाहिए। खासकर महिलाओं को वर्कआउड करते समय ज्सादा सवाधानी बर्तनी चाहिए।

घर पर ही करें कुछ आसान

लेग रेज एक्सरसाइस दो तरह की होती है पहली फ्रंट लेग दूसरी साइड लेग। फ्रंट लेग रेज में सीधे खड़े होकर अपने एक पैर को अपने बाडी के आगे उठाते हैं। साइड लेग रेज मे अपने एक पैर को पहले दाएं से बाएं फिर बाएं से दाएं उठाते हैं।

एैप्स क्रंचेस

इसमें सीधे लेटकर अपने घुटनों को मुड़कर पंजों को जमीन पर रखकर अपनी अपर बाडी को उठाना होता है। 

थ्री सक्वेट

यह एक्सरसाइस पैरों के लिए होती है। इसमें खड़े होकर शरीर के ऊपरी भाग चेस्ट आउट आैर बैक स्ट्रेट करके अप डॉउन करते हैं।

रिपोर्टर - दीक्षा बनौधा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top