माफ़ करिएगा, इस गरीब को हम न्याय नहीं दिला पाए

माफ़ करिएगा, इस गरीब को हम न्याय नहीं दिला पाएgaonconnection

लखनऊ। डीएम राजशेखर ने जिस ज़मीन को कब्जा मुक्त कराने के आदेश दिए, लेखपाल पीड़ित को वह ज़मीन दिलाने के लिए डेढ़ लाख रुपए की मांग कर रहा है। 

लखनऊ के थाना कृष्णानगर क्षेत्र के अलीनगर सुनहरा निवासी सियाराम की ज़मीन खसरे में 1202 नंबर पर 0.0510 हेक्टेयर दर्ज़ है। इस पर भूमाफियाओं ने पुलिस और लेखपाल की मिलीभगत से कब्ज़ा कर निर्माण शुरू करा दिया। दलित बुजुर्ग अपनी 12 बिस्वा ज़मीन दबंगों से वापस पाने के लिए डीएम-एसडीएम से लेकर थानेदार तक लगातार चक्कर काटे। इसे गाँव कनेक्शन ने प्रमुखता से छापा था। इसके बाद डीएम राजशेखर ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए दो दिन में रिपोर्ट मांगते हुए कार्रवाई के आदेश भी दिए थे। लेकिन करीब बीस दिन बीत जाने के बाद क्षेत्र का लेखपाल सलीम बेग ज़मीन कब्ज़ा मुक्त कराने के एवज में बुजुर्ग सियाराम से डेढ़ लाख की मांग कर रहा है।

सियाराम ने कहा, “हम चाहते हैं जो हमारी ज़मीन है, वो हमें दे दें क्योंकि  हमारे पास इतने पैसे नहीं है कि कोर्ट कचहरी के चक्कर लगा पाएं।” आगे बताया हैं, “डीएम, एसपी, एडीएम, न्यायालय और तहसील में अपनी अर्जी लगा चुका हूं, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई। दौड़ते-दौड़ते आंख की रोशनी कम हो गयी लेकिन जमीन नहीं मिली।” 

सियाराम ने बताया, “मेरे पास लेखपाल आये थे और डेढ़ लाख रुपए की मांग करने लगे। हमने कहा कि हम गरीब आदमी है, साहब इतना पैसा हम कहां से लाएंगे तो कहने लगे कि जमीन बेचकर पैसा दो। डेढ़ लाख नहीं दे सकते तो पचास हजार दो, क्योंकि जमीन की नाप मुझे करनी है।”

Tags:    India 
Share it
Top