Top

मध्य प्रदेश किसानों के लिए एक और शानदार योजना, मुख्यमंत्री कृषि उत्पादकता योजना

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   14 Feb 2018 2:09 PM GMT

मध्य प्रदेश किसानों के लिए एक और शानदार योजना,  मुख्यमंत्री कृषि उत्पादकता योजनामध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य दिलाने के लिए मुख्यमंत्री कृषि उत्पादकता प्रोत्साहन योजना की घोषणा की है।

राजनीतिक गलियारों में इसे इस साल नवंबर-दिसंबर में प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार से नाराज किसानों को लुभाने के लिए उठाया गया कदम बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश : शिवराज सिंह की घोषणाओं पर बोले लोग, जुमले हैं जुमलों का क्या ?

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां जम्बूरी मैदान में भावांतर भुगतान योजना के प्रमाण-पत्र वितरण और कृषि महोत्सव के अंतर्गत आयोजित किसान महा-सम्मेलन में इसकी घोषणा करते हुए कहा, इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2017 में जिस समर्थन मूल्य पर गेहूं और धान खरीदा गया था, उसमें 200 रुपए प्रति कुंतल जोड़कर किसानों को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना शुरू, मंडी में भावों के उतार-चढ़ाव से किसानों की करेगी सुरक्षा 

उन्होंने कहा कि इस वर्ष प्रधानमंत्री द्वारा गेहूं का समर्थन मूल्य 1735 रुपए प्रति कुंतल घोषित किया गया है, जिसे इस योजनांतर्गत प्रोत्साहन राशि जोड़कर 2000 रुपए प्रति कुंतल किया जाएगा। चौहान ने कहा कि इसी तरह अगले वर्ष धान में भी मध्यप्रदेश सरकार 200 रुपए प्रति कुंतल बोनस राशि देगी।

ये भी पढ़ें- अगर साड़ी नहीं पहननी आती तो आपको शर्म आना चाहिए, एक मशहूर डिजाइनर का तंज

उन्होंने कहा कि रबी 2016-17 में समर्थन मूल्य पर 67.25 लाख मीट्रिक टन गेहूं का ई-उपार्जन किया गया। इसमें 7.38 लाख किसानों को 1340 करोड़ रुपए का भुगतान होगा। इसी तरह खरीफ 2017 में समर्थन मूल्य पर 16.59 लाख मीट्रिक टन धान ई-उपार्जन किया गया, जिसका 2.83 लाख किसानों को 330 करोड़ रुपए का भुगतान होगा।

ये भी पढ़ें- बेरोजगारों के लिए खुशखबरी : वर्ष 2018 में मिलेंगे रोजगार के ढेर सारे अवसर  

चौहान ने कहा कि भावांतर भुगतान योजना जारी रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि हाल ही में प्रदेश के कई जिलों में हुई ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों के नुकसान की भरपाई राहत राशि और फसल बीमा को मिलाकर की जाएगी।

वर्ष 2018-19 में प्याज की फसल के लिए भावांतर भुगतान योजना

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि इस सम्मेलन में भावांतर राशि के प्रमाण-पत्र वितरित किए गए तथा 3.98 लाख किसानों को 620 करोड़ रुपए की भावांतर राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की गई। उन्होंने कहा कि किसानों के हित में रबी 2017-18 में चना, मसूर एवं सरसों को भावान्तर भुगतान योजना में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा, वर्ष 2018-19 में प्याज की फसल के लिए भावान्तर भुगतान योजना भी लागू की जाएगी।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

चंबल के बीहड़ को कृषि योग्य बनाने के लिए 1200 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रति विकासखण्ड एक हजार कस्टम प्रोसेसिंग एवं सर्विस सेन्टर खोले जाएंगे। किसानों को ही इनका संचालन करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के चंबल संभाग में बीहड़ को कृषि योग्य बनाने के लिए 1200 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

ये भी पढ़ें- यूपी में कर्ज़ माफी से छूटे किसानों के लिए आखिरी मौका, 10 मार्च तक करें आवेदन

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.