हर बोरी से पांच किग्रा गेहूं गायब कर देता था अनाज व्यापारी, किसान हो गया भौचक्का

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   25 March 2018 12:56 PM GMT

हर बोरी से पांच किग्रा गेहूं गायब कर देता था अनाज व्यापारी, किसान हो गया भौचक्कागेहूं के बोरों की सिलाई करता किसान। फाइल फोटो

झाबुआ (मध्यप्रदेश)। किसान क्या करे, कभी मौसम की मार तो कभी फसल की सही कीमत न मिलना और अगर सब सही रहा तो अगर आप सतर्क नहीं रहे तो अनाज मंडी में व्यापारी भी ठग लेता है। एक ऐसा मामला सामने आया है कि आप गुस्से में दांतों को भींच लेंगे, एक किसान इलेक्ट्रॉनिक तौल कांटे पर अपना गेहूं तौला रहा था और व्यापारी मुनाफे के लिए रिमोट के जरिए उसके गेहूं की बोरी का वजन कम कर रहा था।

झाबुआ (मध्यप्रदेश) जिले के पेटलावद तहसील के ग्राम सारंगी में अनाज व्यापारी ऋषभ बम्बोरी की दुकान पर गांव कसारबरर्डी के किसान प्रेम सिंह डामर अपना गेहूं बेचने गया। उसने 15 कुंतल गेहूं को वजन कर 50-50 किलोग्राम की बोरी में बांध दिया था।

ये भी पढ़ें- सरकारें विदेशी नस्लों के पीछे भागती रहीं, हज़ारों देशी गायें मरने के लिए छोड़ दी गईं 

अनाज व्यापारी ऋषभ इलेक्ट्रॉनिक तौल कांटे पर जब उन गेहूं से भरी बोरियों का वजन करता और तो बोरी का वजन 45 किलो निकलता तो किसान चौंक गया। इस पर किसान प्रेम सिंह डामर ने इसका विरोध किया तो दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। इस पर पुलिस आई।

ये भी पढ़ें- आखिर इनके चेहरे खुशियां से क्यों रोशन हैं?

पेटलावद थाना प्रभारी लोकेन्द्रसिंह ठाकुर ने बताया कि कसारबरर्डी गांव का फरियादी प्रेम सिंह डामर गेहूं बेचने कल सारंगी के अनाज व्यापारी ऋषभ बम्बोरी की दुकान पर गया। घर से निकलने के पहले उसने गेहूं तौले थे, तब वजन 15 कुंतल था। लेकिन व्यापारी की दुकान पर पूरा गेहूं तौलने पर हर 50 किलाग्राम की बोरी में 5-5 किलोग्राम गेहूं कम निकल रहा था।

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना देशभर में लागू करने पर विचार : शिवराज सिंह चौहान 

उन्होंने कहा कि शिकायत के अनुसार व्यापारी ऋषभ हर बोरी की तुलाई पर बार-बार अपनी जेब में हाथ डाल रहा था। इस पर प्रेम सिंह को शक हुआ और उसने व्यापारी से पूछ लिया कि बार-बार जेब में हाथ क्यों डाल रहे हो। व्यापारी ने जेब में चाबी का छल्ला होने की बात कही। ठाकुर ने बताया कि इस दौरान दोनों के बीच विवाद हो गया और अन्य किसान भी दुकान पर इकट्ठा हो गए।

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश में ढाई लाख दुधारू पशुओं की ऑनलाइन कुंडली तैयार  

उन्होंने बताया कि व्यापारी के जेब की जांच की गई तो उसमें चाबी का छल्ला नहीं, बल्कि एक रिमोट निकला जो इलेक्ट्रॉनिक तौल कांटे से जुड़ा था और उसे संचालित कर रहा था। हर बार बटन दबाने पर तौल कांटे पर रखी गेहूं की बोरी का वजन 5 किलोग्राम कम कर रहा था। इससे व्यापारियों एवं वहां मौजूद किसानों में विवाद हो गया।

ये भी पढ़ें- सिहद्दा का नाम सुना है क्या, आखिर क्यों गांव-गांव खाक छान रहे अधिकारी

थाना प्रभारी लोकेन्द्रसिंह ठाकुर ने बताया कि शिकायत मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी व्यापारी ऋषभ बम्बोरी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। वहीं, चार अन्य व्यापारी सुनील बम्बोरी, राकेश बम्बोरी, मोहन बम्बोरी और अनिल बम्बोरी घटनास्थल से भाग गए, जिनकी तलाश पुलिस कर रही है।

ये भी पढ़ें- क्या आपको पता है ‘मौजा बेचिराग’ का मतलब, जानें राजस्व विभाग के अजब-गजब शब्द 

थाना प्रभारी लोकेन्द्रसिंह ठाकुर ने कहा कि पेटलावद थाने में सभी पांच आरोपियों के खिलाफ भादंवि की धारा 420, 506, 34, 294, 3 (1) एवं एससी-एसटी एक्ट के साथ-साथ विधिक विज्ञान माप अधिनियम 2009 की धारा 30 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। ठाकुर ने बताया की आरोपी की दुकान से मंडी के अधिकारियों ने इलेक्ट्रॉनिक तौल कांटा और रिमोट भी जब्त कर लिया है।

ये भी पढ़ें- गांधी के बाद हम राम से विमुख होकर रावण संस्कृति अपनाते गए

मध्य प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top