मध्य प्रदेश : अस्पताल में कोरोना योद्धाओं के खाने में निकलीं इल्लियां, तबियत बिगड़ने पर पहुंचे कलेक्टर

मध्य प्रदेश के नीमच जिला अस्पताल में कोरोना योद्धाओं के खाने में मरी हुईं इल्लियां मिलने के बाद अस्पताल में हडकंप मच गया। मौके पर पहुंचे जिला कलेक्टर ने स्वास्थ्य कर्मियों को ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

मध्य प्रदेश : अस्पताल में कोरोना योद्धाओं के खाने में निकलीं इल्लियां, तबियत बिगड़ने पर पहुंचे कलेक्टरखाने के पैकेट में जिला कलेक्टर को मरी हुईं इल्लियां दिखाते स्वास्थ्य कर्मी। फोटो : गाँव कनेक्शन

मध्य प्रदेश के नीमच जिला अस्पताल में आज कोरोना संक्रिमत मरीजों की सेवा में लगे कोरोना योद्धाओं के खाने में इल्लियां निकलने के बाद हड़कंप मच गया। अस्पताल में खाना खाने के बाद एक स्वास्थ्य कर्मी की तबियत बिगड़ गयी। शिकायत मिलने पर जिला कलेक्टर खुद मौके पर पहुंचे और कोरोना योद्धाओं के स्वास्थ्य की जानकारी ली।

नीमच जिला अस्पताल के कोविड-19 फीवर क्लिनिक सेंटर में काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मी गोविंद सुथार समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों ने अस्पताल की कैंटीन में खाना खाया। खाना खाने के बाद गोविंद की तबियत ख़राब हो गयी और उल्टियां होने लगीं।

इसके बाद कुछ स्वास्थ्य कर्मियों ने कैंटीन में मिल रहे खाने को पैकेट को ध्यान से देखा तो गोभी की सब्जी में मरी हुईं इल्लियां मिलीं। खाने का पैकेट लेकर सभी स्वास्थ्य कर्मी जिला स्वास्थ्य अधिकारी के पास पहुंचे और उन्हें खाने में मिलीं मरी हुईं इल्लियां दिखायीं।

स्वास्थ्य कर्मियों के खाने के पैकेट में गोभी की सब्जी में मिलीं मरी हुईं इल्लियां। फोटो : गाँव कनेक्शन

जिला अस्पताल में आयुष मेडिकल ऑफिसर के पद पर काम कर रहे गोविंद सुथार 'गाँव कनेक्शन' से बताते हैं, "हम अस्पताल की कैंटीन में हर दिन खाना खाने के लिए आते हैं, आज खाना खाने के बाद हम लोगों को वोमिटिंग होने लगी। खाने के पैकेट में हमें मरी हुईं इल्लियाँ मिलीं, यह सब खाना बनाने वालों की लापरवाही है, हम लोगों ने अधिकारियों से शिकायत की है।"

अस्पतालों में कार्यरत स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए हमेशा भोजन के पैकेट ठेकेदारों के माध्यम से मंगाए जाते हैं। फिलहाल कोरोना योद्धाओं के खाने में मरी हुई इल्लियां निकलने का वीडियो सोशल मीडिया में आने के बाद नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे भी मौके पर पहुँच गये। जिला कलेक्टर ने कोरोना योद्धाओं को मिलने वाले खाने के पैकेट देखे और ठेकेदार पर नाराजगी जताते हुए कार्रवाई की बात की।

कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे बताते हैं, "यह मामला मेरे संज्ञान में अभी आया है, जो भी ठेकेदार इसके लिए जिम्मेदार होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।"

इनपुट : अशोक सिंह परमार

यह भी पढ़ें :

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5: शरीर में खून की कमी से जूझ रहे बच्चे, 22 में से 17 राज्यों के बच्चों में बढ़े एनीमिया के मामले



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.