एमपी के ये एमपी वाकई में अजब हैं, अपने हाथों से साफ किया टॉयलेट

Alok Singh BhadouriaAlok Singh Bhadouria   18 Feb 2018 2:15 PM GMT

एमपी के ये एमपी वाकई में अजब हैं, अपने हाथों से साफ किया टॉयलेटरीवा के बीजेपी सांसद जर्नादन मिश्रा की कार्यशैली औरों से हटकर है।

मध्य प्रदेश में रीवा के बीजेपी सांसद जर्नादन मिश्रा का एक विडियो खूब वायरल हो रहा है। इस विडियो में सांसद महोदय एक प्राइमरी स्कूल के बंद पड़े टॉयलेट को अपने हाथों से साफ कर रहे हैं। विडियो में दिखाई दे रहा है कि वे बिना दस्ताने पहने अपने हाथों से ही शौचालय को जाम करने वाली मिट्टी को अपने हाथों से निकाल रहे हैं और बाद में पानी डाल कर उसे साफ कर रहे हैं। इस विडियो को न्यूज एजेंसी एएनआई ने ट्वीट किया है बाद में इसे लगभग चार हजार लोगों ने लाइक किया और दो हजार से ज्यादा लोगों ने रीट्वीट किया। खुद सांसद महोदय ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए लिखा : रीवा जिले के स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत ग्राम पंचायत भुशुड़ी में जन सम्पर्क के दौरान प्राथमिक विद्यालय में बंद पड़े शौचालय की सफाई की। यही विडियो उनके फेसबुक पेज पर भी शेयर किया गया है।

जर्नादन मिश्रा अक्सर ऐसा ही करते हैं, मतलब जिले भर के सरकारी दफ्तरों, शैक्षणिक संस्थानों, अस्पतालों में वह जब भी दौरे पर जाते हैं तो शौचालय अपने हाथ से साफ कर स्वच्छ भारत का संदेश देते हैं। कभी वह रीवा में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए रिक्शा चलाते हैं, ऐसा उन्होंने एक-दो दिन नहीं बल्कि महीनों किया। इसका असर भी हुआ, रीवा स्वच्छता के मामले में देश के टॉप 100 जिलों में शामिल हुआ।

मिश्रा ने रीवा में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए महीनों रिक्शा चलाया।

अपने काम करने के अनोखे तरीके के अलावा जर्नादन मिश्रा टेक सैवी भी हैं मतलब आधुनिक संचार साधनों का भी बेहतर तरीके से इस्तेमाल करना जानते हैं। अपने इस तरह के कामों को वे ट्विटर और फेसबुक पेज पर शेयर करते रहते हैं। मसलन, 17 फरवरी को उन्होंने एक और प्राथमिक विद्यालय में जाकर बाकायदा छात्रों के नाखून चैक किए और जिनके नाखून बड़े थे उनके नाखून भी काटे। इसके बाद इस पूरे वाकये को विडियो समेत ट्वीट किया :

इसी तरह अपने क्षेत्र के एक दूसरे प्राइमरी स्कूल में उन्होंने देखा कि बच्चे साफ-सुथरे नहीं लग रहे हैं। पूछने पर पता चला कि उन्होंने कई दिनों से नहीं नहाया है। बस, सांसद महोदय ने एक बच्चे को अपने हाथ से नहलाया और टीचरों व बच्चों के माता-पिता को संदेश दिया कि बच्चों को हर रोज नहला कर ही स्कूल भेजें। इस पूरी घटना को भी ट्विटर और फेसबुक दोनों पर शेयर किया गया।

लेकिन ऐसा नहीं है कि मिश्रा जी केवल ये साफ-सफाई वाले काम ही करते हों, कभी-कभी वे कवि भी बन जाते हैं। एक बच्चे को गोद में दुलराते हुए उनका एक फोटो है साथ में कुछ लाइनें भी : जो सपने हमने बोए थे, नीम की ठंडी छांव में। कुछ पनघट पर छूट गए, कुछ कागज की नावों में।।

पता नहीं सांसद महोदय अपना ट्विटर हैंडल खुद हैंडल करते हैं या कोई और...

जर्नादन मिश्रा के संसदीय क्षेत्र की जनता धन्य है क्योंकि उसे मिश्रा जी के रूप में एक कंप्लीट मैन मिल गया है। मतलब वह ऐसे सांसद नहीं हैं जो केवल नीरस-रूखी राजनीति में ही रुचि रखते हों। कविता और समाजसेवा के साथ-साथ वह खेल-कूद में भी पारंगत हैं। वह अक्सर युवाओं के साथ बॉलीबॉल खेल कर आनंदित होते हैं, किक्रेट मैच मैच में क्रिकेट खेलकर युवाओं को खेल के लाभ भी बताते हैं, और बाद में इन क्षणों को सोशल मीडिया पर शेयर करना नहीं भूलते।

लोगों का कहना है कि सरपंची से शुरूआत कर सांसद बनने वाले जर्नादन मिश्रा को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनकी आदत के मुताबिक, फक्क्ड़ बाबा कह कर संबोधित करते हें। उम्मीद करते हैं कि एमपी के अनोखे एमपी जर्नादन मिश्रा के इसी तरह के और विडियो या फोटो हमें देखने को मिलते रहेंगे। तब तक यह फोटो देखिए जिसमें वह एक मोची के साथ बैठकर उसका हाल-चाल ले रहे हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान जर्नादन मिश्रा को मजाक में फक्क्ड़ बाबा कह कर संबोधित करते हैं

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top