मैनपुरी में सड़कों से झांकती 'मौत'

मैनपुरी में सड़कों से झांकती मौतगाँव कनेक्शन

मैनपुरी। करोड़ों रुपयों की लागत से जनपद में नई सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन, पुरानी जर्जर सड़कों की मरम्मत के लिए जिम्मेदारों के पास कोई व्यवस्था नहीं है। अनदेखी के अभाव में शहर के भीड़ भरे रास्तों पर जगह-जगह लोहे के रॉड और सरिया सड़कों के ऊपर झांक रहे हैं। कई बार शिकायतों के बावजूद विभाग के कानों पर जूं भी नहीं रेंग रही है।

सरकार बदलते ही जिले की बदहाल सड़कों को संजीवनी मिल गई। खस्ताहाल कई सड़कों की मरम्मत के लिए शासन स्तर से विभाग को करोड़ों रुपए स्वीकृत किए। लोक निर्माण विभाग की देखरेख में सड़कों का जाल भी बिछाया गया लेकिन पुरानी जर्जर सड़कों की मरम्मत के लिए कोई प्रयास नहीं किए। जेल रोड से पुलिस लाइन तिराहे तक रोशनी के लिए एलईडी लाइटों के खंभे

लगवाए गए थे। इन खंभों से अर्थिंग के लिए लोहे के मोटे रॉड को जमीन में दबाया गया था। लेकिन देखरेख के अभाव में ये रॉड उखड़कर जमीन के ऊपर आ गए। बाद में लोक निर्माण विभाग द्वारा जब सड़क बनवाई गई तो इन लोहे के रॉड को डामर के नीचे नहीं दबाया गया। अब स्थिति यह है किइस मुख्य मार्ग पर कई जगहों से लोके के रॉड सड़क के ऊपर निकले हुए हैं। 

कुछ ऐसा ही हाल श्मशान घाट रोड का भी है। श्मशान घाट से मदार दरवाजे तक नगर पालिका द्वारा इंटरलॉकिंग कराई गई है लेकिन, इस रोड से इंटरलॉकिंग कराई गई अधिकांश सीमेंट की ईंटें गायब हो चुकी हैं। ईंटों के गायब होने से श्मशान घाट के मुख्य द्वार पर ही जमीन में दबा लोहे का रॉड सड़क के ऊपर निकल आया है। आए दिन इन दोनों मार्गों पर लोहे के रॉड की वजह से कोई न कोई वाहन दुर्घटनाग्रस्त होता रहता है। 

अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग साहूकार सिंह का कहना है कि जिन रास्तों पर भी यह अव्यवस्था है, वहां मरम्मत कराई जाएगी। शहर की कुछ जर्जर सड़कों की मरम्मत के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। स्वीकृति मिलते ही सड़कों की मरम्मत कराई जाएगी। 

रिपोर्टर - वीरभान सिंह

Tags:    India 
Share it
Top