मुख्यधारा सिनेमा के जरिए परिवर्तन दिखाया जाना चाहिए : शबाना आजमी

मुख्यधारा सिनेमा के जरिए परिवर्तन दिखाया जाना चाहिए : शबाना आजमीशबाना आजमी

नई दिल्ली,(आईएएनएस)| ‘‘मुख्यधारा सिनेमा के जरिए परिवर्तन दिखाया जाना चाहिए क्योंकि यह संचार का महत्वपूर्ण माध्यम हैं।’’ यह कहना है अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी का।

शबाना आज़मी ने कहा, "फिल्में संचार का महत्वपूर्ण माध्यम है और मुझे लगता है कि समाज में अगर परिवर्तन होता है तो मुख्यधारा सिनेमा का काफी असर पड़ता है, क्योंकि अगर आप केवल समानांतर सिनेमा या स्वतंत्र सिनेमा के भीतर अलग-अलग किरदारों के बारे में बात कर रहे हैं तो आप पहले ही बदलाव का प्रचारक हैं।"

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि मुख्यधारा सिनेमा में महिलाओं की समानता पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए। उन्होनें कहा, "मैं इस बात से खुश हूं कि आज की शीर्ष अभिनेत्रियां इसे गंभीरता से ले रही हैं और वह इस पर काम करने के लिए तैयार हैं, जो महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है।"

विद्या बालन, कंगना रनौत, दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा और करीना कपूर खान जैसी बॉलीवुड अभिनेताओं की प्रशंसा करते हुए 66 वर्षीया अभिनेत्री ने कहा कि ये सभी महिला सशक्तिकरण के लिए योगदान दे रहे हैं। शबाना फिलहाल, अपनी आगामी फिल्म 'सोनाटा' के लिए तैयार हैं। यह फिल्म 21 अप्रैल को रिलीज हो रही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top