आपसी भाई-चारे का प्रतीक देवां मेला शुरु, शांति के प्रतीक कबूतर उड़ाकर हुआ शुभारंभ

Arvind ShukklaArvind Shukkla   17 Oct 2016 10:03 PM GMT

आपसी भाई-चारे का प्रतीक देवां मेला शुरु, शांति के प्रतीक कबूतर उड़ाकर हुआ शुभारंभदेवां मेले के शुभारंभ अवसर पर डीएम अजय यादव और उनकी पत्नी अनुभा यादव।

अरुण मिश्रा कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

देवां (बाराबंकी)। आपसी भाईचारे का प्रतीक देवां मेला शुरु हो गया है। विश्व प्रसिद्ध हाजी वारिस के पिता दादा मिया की याद में लगने वाले दस दिवसीय मेल की शुरुआत जिलाधिकारी अजय यादव की पत्नी और सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह की पुत्री अनुभा यादव ने किया।

देवां मेले में प्रस्तुति देते कलाकार।

सोमवार को दस दिवसीय मेले की शुरुआत जिलाधिकारी की पत्नी अनुभा यादव ने शेख हसन गेट पर फीता काटकर व शांति का प्रतीक कबूतर और गुब्बारे उड़ाकर की। शुभारंभ के साथ 10 दिन तक चलने वाले इस मेले में देशभर से जायरीन आते हैं। यह मेला 26 अक्टूबर को आतिशबाजी के साथ समाप्त होगा। सोमवार को मेला का उद्घाटन होते ही मेला अपने परवान पर चढ़ने लगा।

मेले मेें दीप प्रज्वलित करते डीएम अजय यादव।

मेले में खाने-पीने के स्टॉल के साथ घरेलू खरीददारी करने की सैकड़ों दुकानें लगी है। यहां का पशु मेला पूरे देश में प्रसिद्ध है। मेले में 20 लाख का एक घोड़ा अभी से लोगों चर्चा का विषय बना हुआ है। इसके साथ ही लोगों के मनोरंजन की पूरी व्यवस्था की गई है। मेले में रोजाना सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

आईजी ने ली मेले की सुरक्षा की जानकारी

आईजी जोन लखनऊ, ए सतीश गणेश सोमवार को देवां मेला पहुंचकर मेले की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। देवां पहुंचकर सबसे पहले उन्होंने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों सहित एलआइयू के अधिकारियों से गयी सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी ली। मेला परिसर का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इसके बाद आईजी सूफीसंत की मजार पर गए। मजार परिसर का मुख्य द्वार और वीआइपी द्वार पर आने जाने वाले रास्तों को देखा। आईजी ए सतीश गणेश ने बताया, "देवा शरीफ में सूफी संत के लाखों अनुयायी जियारत करने आते है उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जा चुके हैं।" उन्होंने विशेष तौर पर मेले में लगाए गए बैरियर, पार्किंग आदि पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए उन्होंने बताया कि देवा मेला की सुरक्षा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं हर गतिविधि से निपटने के लिए पुलिस पूरी तरह से सक्षम है। पुलिस व पब्लिक से बेहतर तालमेल बनाये रखने के भी निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि पुलिश के वरिष्ठ अधिकारी केंद्रीय एजेंसियों के टच में है। पुलिस सभी गतिविधियों पर नजर रख रही है। मजार और मेला की भीड़ वाली जगहों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।

मेले में सुरक्षा के लेकर आयोजित बैठक में पुलिसकर्मी।

उद्धाटन पर पहुंचे अधिकारी और कई नेता

सोमवार को मेले के उद्घाटन के अवसर पर जिलाधिकारी अजय यादव, पुलिस अधीक्षक राजू बाबू सिंह और उनकी पत्नी, अपर जिलाधिकारी अनिल सिंह, एमएलसी राजेश यादव, चेयरमैन साहबे आलम वारसी, खंड विकास अधिकारी घनश्याम त्रिपाठी, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिध रमेश यादव कोतवाली प्रभारी एस पी सिंह,सहित सैकड़ो की संख्या में लोग उपस्थित रहे।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top