फिल्मोद्योग में अभिनेत्रियों के लिए शानदार समय: सुष्मिता

फिल्मोद्योग में अभिनेत्रियों के लिए शानदार समय: सुष्मितादो बेटियों रीनी और अलीशाह की अकेली मां सुष्मिता ने कहा कि भारतीय दर्शक इस तरह फिल्मों से शिक्षित हो रहे हैं।

मुंबई (आईएएनएस)। अभिनेत्री और पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कहना है कि हिंदी फिल्मोद्योग में अभिनेत्रियों द्वारा निभाई जा रही भूमिकाओं में बदलाव शानदार है।

सुष्मिता ने यहां कहा, ''फिल्म उद्योग में महिला कलाकारों के लिए शानदार समय है, क्योंकि 13 सालों में, मैंने पहली बार देखा है कि सभी का ध्यान पूरी तरह महिला केंद्रित विषय वाली फिल्म पर होता है।''

दो बेटियों रीनी और अलीशाह की अकेली मां सुष्मिता ने कहा कि भारतीय दर्शक इस तरह फिल्मों से शिक्षित हो रहे हैं। उन्होंने कहा, ''हमारे देश में फिल्में देखने का लोगों में शौक है। मुझे लगता है कि अच्छी पटकथा, अच्छे निर्माताओं और अलग तरह की फिल्मों से सीखने के इच्छुक दर्शकों के साथ इस तरह के अवसर बढ़ाए जाने चाहिए।'' 'बीवी नंबर वन' और 'मैं हूं ना' जैसी फिल्मों का हिस्सा रहीं सुष्मिता 2010 की बॉलीवुड फिल्म 'नो प्रॉब्लम' और बंगाली फिल्म 'निरबाक' में नजर आ चुकी हैं।

सुष्मिता ने फिल्मों के बारे में कहा कि जिस तरह की फिल्में उन्हें मिल रही थीं, उससे उन्होंने दूर रहना ही बेहतर समझा। हाल ही में मनीला में उन्होंने मिस यूनिवर्स 2016 प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका निभाई औ6र इसके अलावा उन्होंने डिजाइनर शशि वंगापल्ली के लिए लेक्मे फैशन वीक समर/रिसॉर्ट 2017 के रैंप पर जलवे बिखेरे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top