ऋषि कपूर की किताब मजेदार व ईमानदार : अनिल

ऋषि कपूर की किताब मजेदार व ईमानदार : अनिलहिन्दी सिने जगत के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर।

मुंबई (आईएएनएस)। अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर की आत्मकथा 'खुल्लम खुल्ला- ऋषि कपूर अनसेंसर्ड' बेहद व्यावहारिक, मजाकिया और ईमानदार किताब है। अपनी आत्मकथा में ऋषि ने अपने और अपने पिता स्वर्गीय पिता राज कपूर के सह-अभिनेत्रियों के साथ प्रेम संबंधों, पिता-पुत्र के रिश्ते में अपने विश्वास और अभिनय के लिए अपने जुनून जैसे जीवन के अनछुए पहलुओं का खुलासा किया है।

अनिल ने सोमवार को ट्विटर पर लिखा, "ऋषि कपूर आपकी पुस्तक पढ़ना स्मृतियों में चलने जैसा लग रहा है और आपकी तरह यह भी व्यावहारिक, मजाकिया और ईमानदार है।"

पिछले 85 वर्षों से हिंदी फिल्म उद्योग का हिस्सा रहे कपूर खानदान के सदस्य ऋषि को 1980 के दशक में 'चॉकलेट हीरो' और लवर ब्वॉय कहा जाता था। ऋषि को 'बॉबी', 'खेल खेल में', 'कर्ज', 'दो दूनी चार' और हाल ही में 'कपूर एंड संस' जैसी फिल्मों के लिए जाना जाता है।

इस किताब की सह-लेखिका मीना अय्यर हैं। अनिल और ऋषि ने 'विजय', 'कारोबार : द बिजनस ऑफ लव' और 'गुरुदेव' में साथ काम किया है।

Share it
Top