बांग्लादेश में ‘नो बेड ऑफ रोजेस’ और पाकिस्तान में ‘कैलेंडर गर्ल्स’ के प्रतिबंध से मधुर भंडारकर दुखी 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   19 Feb 2017 3:07 PM GMT

बांग्लादेश में ‘नो बेड ऑफ रोजेस’ और पाकिस्तान में ‘कैलेंडर गर्ल्स’ के प्रतिबंध से मधुर भंडारकर दुखी राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मकार मधुर भंडारकर।

कोलकाता (आईएएनएस)। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मकार मधुर भंडारकर ने इरफान खान अभिनीत 'नो बेड ऑफ रोजेस' पर बांग्लादेश में प्रतिबंध को लेकर दुख जताया है। उन्होंने निर्माताओं के प्रति सहानुभूति जताई, जिनकी फिल्म 'कैलेंडर गर्ल्स' पाकिस्तान में प्रतिबंधित हो चुकी है।

भंडारकर ने सातवें राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव के दौरान संवाददाताओं से कहा, "फिल्म 'कैलेंडर गर्ल्स' पाकिस्तान में प्रतिबंधित की जा चुकी है। हम उदारीकरण के बारे में बात कर रहे हैं, अभिव्यक्ति की आजादी के बारे में बात कर रहे हैं और दुनिया काफी बदल चुकी है। इरफान एक प्रतिभाशाली अभिनेता हैं और बांग्लादेश में उनके प्रशंसकों की संख्या भारत के समान ही है।"

फिल्मकार कहते हैं, "इस तरह के प्रतिबंध का सामना किए जाने पर निर्देशक मुस्तफा सरवर फारूकी सहित इरफान और फिल्म निर्माताओं के लिए मैं बहुत दुखी हूं।"

फिल्म 'नो बेड ऑफ रोजेस' के बारे में कहा जा रहा है कि यह बांग्लादेशी लेखक और फिल्मकार हुमायूं अहमद के जीवन पर आधारित है, जिन्होंने 27 साल की शादी को तोड़ते हुए अपनी पत्नी को तलाक देकर उम्र में 33 साल छोटी एक अभिनेत्री से शादी रचा ली।

हालांकि फिल्मकार ने इसका खंडन किया कि फिल्म एक बायोपिक है। भंडारकर ने कहा कि उन्हें फिल्म की कहानी नहीं पता, लेकिन सेंसर से पास होने के बाद फिल्म को प्रतिबंधित नहीं करना चाहिए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top