ईश्वर की आराधना दूसरों को परेशान करने के लिए न हो : जावेद अख्तर  

ईश्वर की आराधना दूसरों को परेशान करने के लिए न हो : जावेद अख्तर  जाने-माने पटकथा लेखक व फिल्म-गीतकार जावेद अख्तर।

मुंबई (आईएएनएस)। जाने-माने पटकथा लेखक व फिल्म-गीतकार जावेद अख्तर का कहना है कि ईश्वर की आराधना करना अच्छी बात है, लेकिन यह दूसरों को परेशान करने के लिए नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह टिप्पणी सोनू निगम के अज़ान के दौरान लाउडस्पीकर के उपयोग पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग के संदर्भ में की।

अख्तर शुक्रवार रात बॉलीवुड के सर्वश्रेष्ठ कवि, गीतकार और पटकथा लेखक के रूप में दादासाहेब फाल्के एक्सीलेंस अवार्ड से नवाजे गए।

जहां तक मेरा मानना है..चाहे वो मस्जिद, मंदिर, चर्च या गुरुद्वारा हो, कोई भी धार्मिक स्थल हो, इससे फर्क नहीं पड़ता..आप प्रार्थना कीजिए, लेकिन इससे दूसरों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।
जावेद अख्तर पटकथा लेखक व फिल्म-गीतकार

अभिनेता पंकज कपूर को भी उनके बहुमुखी अभिनय क्षमता के लिए पुरस्कृत किया गया। उन्होंने कहा, "अपने काम को पहचान मिलने का मैं आभारी हूं। दादासाहेब फाल्के जैसे बड़े नाम के साथ जुड़ना मेरे लिए सम्मान की बात है..भारतीय सिनेमा के पहले शख्स, जिन्हें हम भारतीय सिनेमा के जनक के रूप में जानते हैं..इसलिए मैं यहां पर उपस्थित होकर बेहद खुश हूं और इस पुरस्कार के साथ जुड़ने पर मुझे गर्व है।"

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उर्वशी रौतेला, हेमा मालिनी, ऐश्वर्या राय बच्चन, अनूप जलोटा, दिव्या खोसला कुमार, फाल्गुनी पाठक, जुबिन नौटियाल, कीर्ति कुलहरि, जूही चावला, उषा नाडकर्णी, पीयूष मिश्रा, राणा दग्गूबाती, शूजीत सरकार और सैयामी खेर जैसी हस्तियां भी सम्मानित की गईं।

Share it
Top