फिल्म ‘मंत्रा’ 1990 के दशक की पीढ़ियों के लिए प्रासंगिक : कल्कि कोचलिन

फिल्म ‘मंत्रा’ 1990 के दशक की पीढ़ियों के लिए प्रासंगिक  : कल्कि  कोचलिनअभिनेत्री कल्कि कोचलिन।

मुंबई (आईएएनएस)। आगामी फिल्म 'मंत्रा' में काम करने वाली अभिनेत्री कल्कि कोचलिन का कहना है कि यह फिल्म 1990 के दशक की पीढ़ियों के लिए प्रासंगिक है।

फिल्म के ट्रेलर लांच के मौके पर कल्कि ने कहा, "मुझे फिल्म की पटकथा पसंद आई। यह 1991 में जब भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने कदम रखा था, उस दौर को दर्शाती फिल्म है, जहां पुरानी पीढ़ी पूरी तरह से पारंपरिक विचारों वाली थी, वहीं नई पीढ़ी स्वतंत्रता चाहती थी।"

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अभिनेत्री ने संवाददाताओं को बताया, "मैं उस दौर में पली-बढ़ी हूं, इसलिए मैं इसके विद्रोही चेहरे को समझ सकती हूं। मुझे लगता है कि यह फिल्म हमारी पीढ़ी को लिए एक प्रासंगिक विषय है।"

यह फिल्म एक बहुराष्ट्रीय कंपनी द्वारा प्रतिष्ठित भारतीय ब्रांड के अधिग्रहण से प्रेरित है। किंग चिप्स कंपनी का मालिक कपिल कपूर (रजत कपूर) बहुराष्ट्रीय कंपनी के खिलाफ अपनी लड़ाई लड़ता है। कल्कि (33 वर्ष) इस फिल्म में कपिल की बेटी की भूमिका में हैं।

निकोलस खारकोंगर निर्देशित इस फिल्म में लुशिन दुबे, शिव पंडित, रोहन जोशी और आदिल हुसैन भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं। फिल्म 17 मार्च को रिलीज होगी।

Share it
Top