सिक्किम को अशांत कहना प्रियंका चोपड़ा को पड़ा महंगा, लोगों ने खूब खरी खरी सुनाया

सिक्किम को अशांत कहना प्रियंका चोपड़ा को पड़ा महंगा, लोगों ने खूब खरी खरी सुनायाफिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा।

मुंबई (भाषा)। प्रियंका चोपड़ा को सिक्किम को उग्रवाद से प्रभावित राज्य कहना भारी पड़ गया है। सोशल मीडिया पर उनके इस बयान की कड़ी आलोचना की जा रही है।

उन्होंने हाल ही में सिक्किमी भाषा की अपनी होम प्रोडक्शन फिल्म पाहुना को टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में प्रदर्शित किया था। ईटी कनाडा के साथ एक साक्षात्कार में उन्होंने दावा किया था कि यह सिक्किम से बनने वाली पहली फिल्म है क्योंकि यह बेहद अशांत क्षेत्र है।

साक्षात्कार में उन्होंने कहा था, यह एक सिक्किमी फिल्म है, सिक्किम पूर्वोत्तर भारत में एक छोटा सा राज्य है जहां कभी भी कोई फिल्म उद्योग नहीं रहा या कोई ऐसा नहीं रहा जिसने यहां से फिल्म का निर्माण किया हो। यह पहली फिल्म है जो इस क्षेत्र से उभर कर आई है क्योंकि यह क्षेत्र उग्रवाद और चिंताजनक परिस्थितियों के कारण अशांत है, मैं इस फिल्म को लेकर बहुत उत्साहित हूं।

साक्षात्कार सामने आते ही, कई ट्विटर यूजर्स ने राजनीतिक तौर पर अशिक्षित होने के कारण उनकी आलोचना की है। असम के एक पटकथा लेखक बिश्वातोष सिन्हा ने पोस्ट किया, प्यारी प्रियंका चोपड़ा, सिक्किम एक शांत स्थान है और पाहुना इस क्षेत्र से पहली फिल्म नहीं है, कृपया पूर्वोत्तर के बारे में सही तथ्य जान लें।

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

दूसरे यूजर ने लिखा, क्या उन्हें सिक्किम और दूसरे पूर्वोत्तर राज्यों के बीच अंतर पता है? भारत को ऐसे ही बदनाम किया जाता है।

Share it
Top