महिलाओं के खिलाफ हिंसा पर फिल्म प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में शबाना आजमी

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   24 Oct 2017 12:00 PM GMT

महिलाओं के खिलाफ हिंसा पर फिल्म प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में शबाना आजमीशबाना आजमी

मुंबई (आईएएनएस)। शबाना आजमी, शेखर कपूर, फिरोज अब्बास खान को एक फिल्म प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में शामिल किया गया है। इस प्रतियोगिता में महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को रोकने के विषय पर आधारित फिल्मों को शामिल किया गया था। यह डिजिटल फिल्म प्रतियोगिता 30 मई से 15 सितंबर तक चली और फिल्म जगत की इन दिग्गज हस्तियों को सभी प्रविष्टियों में से विजेता चुनने के लिए निर्णायक मंडल में शामिल किया गया है।

प्रतियोगिता में शामिल सभी फिल्में कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा बनाई गई हैं।

एक बयान के अनुसार, यह प्रतियोगिता युवाओं को साथ लाने, उनमें जागरूकता पैदा करने और महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा रोकने के लिए शुरू किए गए कैंपेन 'बस अब बहुत हो गया' का हिस्सा है। इस अभियान की शुरुआत फरहान अख्तर की पहल 'मर्द' और फिरोज अब्बास खान के साथ ही पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया के नेतृत्व में की गई है।

जूरी द्वारा चयन किए जाने के अलावा, एक दर्शकों की पसंद से एक विशेष पुरस्कार भी दिया जाएगा। फिरोज अब्बास खान ने कहा, "किसी संवेदनशील मुद्दे को कैमरे की नजर से देखने के बाद उसे पेश करने के लिए साहस चाहिए। सभी प्रतिभागियों ने अच्छा काम किया है और एक जूरी सदस्य होने के नाते तीन सर्वश्रेष्ठ फिल्मों का चुनाव करना आसान नहीं था। लेकिन सभी जूरी सदस्यों ने अपनी योग्यता का इस्तेमाल कर यह कठिन निर्णय लिया है।"

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा कि वे विजेता फिल्मों को दर्शकों के समक्ष पेश करने के लिए उत्सुक हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top