राष्ट्रवाद और राष्ट्रभक्ति के बीच के अंतर को समझना समय की मांग : शबाना आजमी   

राष्ट्रवाद और राष्ट्रभक्ति के बीच के अंतर को समझना समय की मांग : शबाना आजमी    शबाना आजमी

नई दिल्ली (भाषा)। जानी मानी अभिनेत्री शबाना आजमी ने कहा कि देश आज अति राष्ट्रवाद का गवाह बन रहा है, यद्यपि ये परिकल्पना नई नहीं है लेकिन लोगों को इसके प्रति सजग होने की जरुरत है। अभिनेत्री ने कहा कि राष्ट्रवाद और राष्ट्रभक्ति के बीच के अंतर को समझना समय की मांग है।

आजमी ने कहा, "राष्ट्रभक्ति खुद को किसी भौगोलिक क्षेत्र में रहने वाले लोगों के जीवन से जोड़ती है और इसके साथ ही उनके जीवनस्तर में बेहतरी का भी ध्यान रखती है, इसलिए आप बेहद राष्ट्रभक्त हो सकते हैं और इसके साथ ही साथ आप समाज के कुछ खास मुद्दों को लेकर आलोचनात्मक रुख भी रख सकते हैं. ऐसे में किसी भी तरह से यह आपको गैरराष्ट्रभक्त नहीं बनाता।"

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एक कार्यकम में अपने गीतकार पति जावेद अख्तर के साथ एक परिचर्चा में शबाना ने कहा, "लेकिन अब हम जो देख रहे हैं (देश में) वह अति राष्ट्रवाद है और यह ऐसी चीज है जिसके बारे में सतर्क होना चाहिए। यह हमेशा से रही है (और) संस्कृति और कला पर हमेशा हमला होता रहा है क्योंकि ये जिसका प्रतिनिधित्व करते हैं उससे देश की छवि परिभाषित होती है।"

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top