जो फिल्मों के सुपरस्टार नहीं हैं लेकिन हीरो से कम भी नहीं हैं...

Anusha MishraAnusha Mishra   18 Jun 2017 12:14 PM GMT

जो फिल्मों के सुपरस्टार नहीं हैं लेकिन हीरो से कम भी नहीं हैं...स्वरा भास्कर

लखनऊ। बॉलीवुड में ऐसे कई अभिनेता और अभिनेत्रियां हैं जिन्हें सुपरस्टार का दर्ज़ा तो नहीं मिला है लेकिन इनकी आदकारी इतनी कमाल की है कि इनके चाहने वाले इन्हें हीरो से कम नहीं मानते। इनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर भले ही हर बार शानदार कलेक्शन करने में कामयाब न रहती हों लेकिन दर्शकों के दिलों में ये छाप छोड़ ही जाते हैं। कई ऐसे अभिनेता हैं जिन्हें दर्शक अब वो जगह दे रहे हैं जो एक कलाकार को मिलनी चाहिए और इसका किसी स्टारडम से कोई लेना देना नहीं क्योंकि ये इंडिया का नया 'अदाकारी का सनीमा' है।

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की नई फिल्म 'बाबूमोशाय बंदूकबाज़' आने वाली है। उम्मीद है कि उनकी इस फिल्म में उनके किरदार को भी दर्शक उनके बाकी किरदारों जितना ही पसंद करेंगे। वह उन चंद एक्टर्स में शामिल हो चुके हैं, जो कंटेंट के बल पर तारीफें बटोरते हैं। चाहे वो 'बॉम्बे टॉकीज़' की छोटी सी शॉर्ट फिल्म हो या फिर 'मांझी द माउंटेन मैन' की बायोपिक हो।

अर्जुन रामपाल

अर्जुन रामपाल ने 2001 से भारतीय सिनेमा में अपने करियर की शुरुआत की। हीरो के रूप में उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ कमाल नहीं कर पाईं पर एक कलाकार के रूप में आलोचकों ने उनकी खूब सराहना की। इसके बाद उन्होंने सहायक अभिनेता के तौर पर काम करना शुरू कर दिया लेकिन बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के मामले में फिर भी उनकी फिल्मों ने कमाल नहीं दिखा पाया लेकिन इससे उनकी अच्छी एक्टिंग करने वाले हीरो की छवि को कोई नुकसान भी नहीं हुआ। वह अपनी फिल्म 'रॉक ऑन' के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार भी जीत चुके हैं।

स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर के अभिनय में जो बात है वो शायद ही आज के किसी एक्टर में देखने को मिलेगी। सहज और सरल अभिनय उनकी ताकत है। यही वजह है कि फिल्म 'रांझणा' की बिंदिया के आगे ज़ोया यानि सोनम कपूर का अभिनय फीका नज़र आया।

जिम्मी शेरगिल

जिम्मी शेरगिल ने अपनी पहली फिल्म 'माचिस' से ही अपना जलवा दिखा दिया था और यशराज फिल्म्स ने उन्हें अपना नया चेहरा बनाया। लेकिन उनकी ज़्यादातर फिल्मों ने अच्छी कमाई नहीं की इसलिए यह कहा जा सकता है कि उनकी सफलता में केवल उनकी काबिलियत का योगदान है। 'साहेब बीवी और गैंगस्टर' हो या 'अ वेडनेसडे' से या 'तनु वेड्स मनु' हर फिल्म में उनका सर्वश्रेष्ठ दिखा है।

रोनित रॉय

रोनित रॉय के चाहने वालों की लंबी लिस्ट है लेकिन इससे भी ज़्यादा बड़ा है उनका अभिनय जो एक सीन से ही दिख जाता है। जब भी उनकी कोई नई फिल्म आती है तो लगता है कि इससे अच्छा अभिनय वो नहीं कर सकते लेकिन अगली बार वो फिर फिल्म में आते हैं और कमाल कर जाते हैं।

मोहम्मद ज़ीशान अयूब

ज़ीशान अयूब का नाम लो और फिल्म 'रांझणा' का डायलॉगद - 'तुम्हारा प्यार न हो गया साला यूपीएससी का एक्जाम हो गया, 10 से पास ही नहीं हो रहा' याद न आए ऐसा कैसे हो सकता है। डायलॉग बोलने का उनका अलग स्टाइल ही उनकी पहचान है। अगर आपने 'नो वन किल्ड जेसिका' देखी है तो आप उनसे नफरत करते होंगे। लेकिन 'रांझणा' के मुरारी ने दिल जीता तो 'तनु वेड्स मनु' में उन्होंने दिल जलाया!

दिव्या दत्ता

दिव्या दत्ता हमेशा लीक से हटकर चलीं और यही उनकी ताकत है और खासियत भी। 'दिल्ली 6' के एक छोटे से रोल में भी वो बाकियों को साईड कर अपना काम कर निकल गई थीं। उनकी शायद ही ऐसी कोई फिल्म होगी जिसमें उनकी बेहतरीन अदाकारी की चर्चा न हुई हो।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top