जब मनोज कुमार ने हेमामालिनी को कराया था पूरे दिन इंतज़ार

जब मनोज कुमार ने हेमामालिनी को कराया था पूरे दिन इंतज़ारमनोज कुमार।

लखनऊ। भारतीय सिनेमा के भारत कुमार यानि मनोज कुमार अपने अलग अंदाज से हमेशा से ही अपने चाहने वालों के दिल में रहे हैं। मनोज कुमार का जन्म 24 जुलाई 1937 को हुआ था। इनका वास्तविक नाम था हरिकिशन गोस्वामी।

अपने वास्तविक नाम को बदल कर मनोज कुमार के पीछे की वजह बड़ी दिलचस्प है। उन दिनों दिलीप कुमार का परचम इंडस्ट्री में छाया हुआ था। मनोज साहब भी दिलीप कुमार की अदाकारी के मुरीद थे। 1949 में दिलीप कुमार की एक फिल्म आई थी 'शबनम'।

ये भी पढ़ें- हिन्दी फिल्मों में हमेशा छाये रहे सावन के गीत

उस फिल्म में दिलीप कुमार का नाम था मनोज। फिल्म ने इनके ऊपर ऐसी छाप छोड़ी कि उसी वक्त उन्होंने फैसला कर लिया कि अगर कभी फिल्मों में काम करने का मौका मिला तो वो अपना नाम मनोज ही रखेंगे । वैसे तो शुरुआत के दौर में उन्होंने कुछ फिल्में की लेकिन 1964 में आई फिल्म 'वो कौन थी' से मनोज कुमार को पहचान मिली।

जब हेमामालिनी सेट से बिना शूट किये ही वापस चली गई थीं

मनोज कुमार जितने अच्छे अभिनेता हैं उतने ही अच्छे फिल्म निर्माता भी रहे। मनोज साहब के साथ का एक किस्सा शायद ही लोगों को मालूम हो। बात उस वक्त की है जब 1980 के दौर में फिल्म 'क्रांति' को डायरेक्ट कर रहे थे। उस फिल्म में पहली बार मनोज साहब के आदर्श दिलीप कुमार भी काम कर रहे थे साथ ही कुछ और स्टार भी इस फिल्म में शामिल थे।

फिल्म में उस दौर की कामयाब ऐक्ट्रेस हेमामालिनी भी बतौर हिरोइन काम कर रही थी। हुआ यूं कि हेमामालिनी सुबह जैसे ही सेट पर आईं, उन्होंने मनोज कुमार से कहा कि आज मेरा शूट जल्दी करवा लीजियेगा मुझे आज कहीं जाना है। इतना सुनते ही भारत कुमार अन्दर ही अन्दर नाराज हो गये और फैसला किया कि आज हेमा का एक भी शूट नहीं करूंगा।

ये भी पढ़ें- जिनकी आवाज़ सुनकर केएल सहगल भी खा गए थे धोखा

हेमा दिनभर शूट के इंतजार में बैठी रहीं और शाम को बिना शूट के ही वापस चली गईं। हेमा ने जल्दी शूट के लिये इसलिये कहा था कि उसी दिन उन्हें 'रजिया सुल्तान' की भी शूटिंग करनी थी। हेमा ने जब शूट न होने की बात 'रजिया सुलतान' के डायरेक्टर कमाल अमरोही को बताई तो उन्होंने तुरंत भारत कुमार को फोन मिलाया और उनसे हेमा का शूट न किये जाने का कारण पूछा इस पर उन्होंने कहा कि जब हेमा ने 'क्रांति' की शूट के लिए हमें डेट्स दे रखी हैं तो फिर उन्हीं डेट्स में वो दूसरी फिल्म की शूटिंग कैसे कर सकती हैं और अगर उन्हें जाना ही था तो आपने मुझसे बात क्यों नहीं की। अब बताइए इसमें हमारी गलती कहां है। मनोज साहब के इस जवाब को सुनकर कमाल अमरोही भी चुप हो गये।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top