हैप्पी बर्थडे ‘गुड्डी’: अमिताभ की पत्नी के अलावा जया एक संजीदा अभिनेत्री भी हैं

Shefali SrivastavaShefali Srivastava   9 April 2017 1:41 PM GMT

हैप्पी बर्थडे ‘गुड्डी’: अमिताभ की पत्नी के अलावा जया एक संजीदा अभिनेत्री भी हैंआज जया बच्चन 69 साल की हो गई हैं 

लखनऊ। जया बच्चन का नाम आते ही अमिताभ बच्चन की पत्नी वाली तस्वीर जेहन में पहले आ जाती है लेकिन जया की पहचान पहले से ही एक बेहतरीन और संजीदा अभिनेत्री के रूप में है। आज उनका 69 वां दिन जन्मदिन है।

पत्रकार पिता की बेटी जया तीन बहनों में सबसे बड़ी हैं। जया बचपन से ही निर्भीक रही हैं जिसका श्रेय वह अपने पिता को देती हैं। एक इंटरव्यू में वह कहती हैं कि उनके पिता ने कभी किसी चीज को लेकर अपनी बेटियों पर रोक-टोक नहीं लगाई। हम आजाद थे अपनी मर्जी से कुछ भी करने के लिए इसलिए शायद कभी भाई की कमी नहीं खली।

नौ अप्रैल 1948 को जबलपुर, मध्य प्रदेश में जन्मी जया बच्चन ने अपने करियर की शुरुआत 15 साल की उम्र में ही कर दी थी। मासूम चेहरे और दिलकश मुस्कान वाली जया को फिल्मों में पहला ब्रेक सत्यजीत रे ने महानगर में दिया था। बंगाली भाषा में बनी इस फिल्म में जया ने सहायक अभिनेत्री के तौर पर काम किया था।

गुड्डी फिल्म से चर्चा में आई जया समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद भी हैं।

इसके बाद एक्टिंग की तरफ आकर्षित होकर ही जया ने फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) में एडमिशन लिया था। जया एफटीआईआई की गोल्ड मेडलिस्ट रह चुकी हैं। इसके बाद ऋषिकेश मुखर्जी ने जया को फिल्म गुड्डी ऑफर की। इस फिल्म से ही जया रातोंरात स्टार बन गईं।

इसी फिल्म के जरिए जया की मुलाकात अमिताभ से हुई। दोनों की साथ में फिल्म जंजीर आई जिसके बाद दोनों की शादी हो गई।

शादी के बाद हर किसी ने जया-अमिताभ को इंडस्ट्री की बेस्ट जोड़ी बताया। जंजीर, अभिमान, चुपके-चुपके, मिली, शोले और अनामिका जैसी फिल्मों में दमदार अभिनय करने वाली जया बच्चन ने शादी के बाद फिल्मों में काम लगभग बंद कर दिया था।

शादी से पहले जया, जया भादुड़ी थीं। बहुत कम लोग ही जानते हैं कि जया को खेलकूद में भी बहुत शौक था और 1966 में उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री के हाथों एनसीसी की बेस्ट कैडेट होने का तमगा मिला था। उन्होंने छह साल तक भरतनाट्यम का प्रशिक्षण भी लिया था।

जया बच्चन की कुछ बेहतरीन फिल्में

गुड्डी (1971)

1971 में आई ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म 'गुड्डी' जया बच्चन की बॉलीवुड में पहली फिल्म थी। उस समय ऋषिकेश को फिल्म के लिए एक मासूम लड़की की तलाश में थे। जया बच्चन के रूप में आदर्श गुड्डी मिल गई। गुड्डी के सेट पर ही अमिताभ बच्चन, जलाल आगा और अनवर अली से जया की मुलाकात हुई। अपनी पहली हिन्दी फिल्म 'गुड्डी' में उन्होंने फिल्म अभिनेता धर्मेन्द्र की दीवानी-लड़की की भूमिका की थी। फिल्म में उनके किरदार को खूब वाहवाही मिली थी।

उपहार (1971)

1971 में ही आई उनकी दूसरी फिल्म राजश्री प्रोडक्शन की 'उपहार' थी। इसमें उन्होंने ऐसी अल्हड़ लड़की का रोल किया था, जो प्रेम और शादी का अर्थ नहीं समझती है। इस फिल्म में उनके साथ स्वरूप दत्त थे। इस फिल्म ने ऑस्कर में बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज के लिए एंट्री की थी।

अभिमान (1973)

1973 में आई ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म अभिमान में जया बच्चन के साथ उनके साथ रियल लाइफ हसबैंड अमिताभ बच्चन ने अभिनय किया था। इस फिल्म में जया और अमिताभ पति-पत्नी के किरदार में दिखे जो पेशे से गायक होते हैं लेकिन बाद में इनका पेशा दोनों के बीच अहम की दीवार खड़ा कर देता है। फिल्म में जया के संजीदगी वाले अभिनय को खूब पसंद किया गया।

कोरा कागज (1974)

अनिल गांगुली द्वारा अभिनीत फिल्म कोरा कागज में जया बच्चन ने एक ऐसी लड़की की भूमिका निभाई थी जिसकी शादी उसके घरवालों की वजह से टूट जाती है लेकिन इसके बाद भी वह अपने पति को भूल नहीं पाती है। इस फिल्म के लिए जया बच्चन को फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला था।

इन फिल्मों के अलावा जया बच्चन ‘चुपके-चुपके’, ‘अनामिका’, ‘नौकर’, ‘बावर्ची’, ‘परिचय’, ‘शोले’ और ‘पिया का घर’ जैसी फिल्मों में भी नजर आई।

जया और अमिताभ ने 1972 से 1981 साथ में कुल आठ फिल्में कीं। इनमें बंसी-बिरजू, एक नजर, जंजीर, अभिमान, चुपके-चुपके, मिली, शोले और सिलसिला शामिल हैं। 'कभी खुशी-कभी गम' में भी वे साथ-साथ आए थे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top