विद्या बालन के फैन हैं तो जरूर देखिए “बेगम जान”

विद्या बालन के फैन हैं तो जरूर देखिए “बेगम जान”फिल्म के एक सीन में विद्या बालन

मुंबई। विद्या बालन की फिल्म बेगम जान रिलीज हो गई है। विद्या की यह फिल्म वाकई दमदार है और हमेशा की तरह विद्या ने साबित किया है कि उनके किरदारों के चुनाव उम्दा होते हैं। बंगाली फिल्म राजकहिनी की हिंदी रीमेक में बेगम जान का किरदार कर रही विद्या के लिए ये फिल्म उनके ताज में एक और स्टार जोड़ सकती है।

भारत-पाक विभाजन पर अब तक बहुत सी फिल्में बन चुकी हैं लेकिन श्रीजीत मुखर्जी ने उस दौर के कहीं दूर कोने से एक अलग सी कहानी निकाली है। बेगम जान भारत-पाक के बॉर्डर पर बने कोठे की मालकिन की व्यवस्था से लड़ाई की कहानी है, जो अपनी पुरानी जगह को नहीं छोड़ना चाहती और इसके लिए वो विभाजन के फैसले के खिलाफ खड़ी हो जाती है।

फिल्मी खबरों की वेबसाइट बॉलीवुडलाइफ.कॉम ने बेगम जान के रिव्यू में फिल्म क्रिटिक श्रीजू सुधाकर ने विद्या के किरदार को बॉलीवुड के मेनस्ट्रीम फिल्मों की तुलना में कहीं ज्यादा बोल्ड कहा है। फिल्म का फर्स्ट हाफ सुस्त है और कहानी की जमीन तैयार करने और किरदारों के परिचय में ही निकल जाता है। कुछ किरदारों की गहराई में जाने से बचा सकता था। फर्स्ट हाफ में पार्टिशन पर बहुत बात नहीं की गई है।

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

डायरेक्टर ने इतिहास का बैकग्राउंड तैयार करने के लिए स्वतंत्र रूप से श्याम बेनेगल की क्लासिक फिल्म मंडी की मदद ली है। हालांकि विभाजन के खिलाफ खड़ी विद्या अपने किरदार में थोड़ी संघर्ष करती नजर आती हैं, मूल बंगाली फिल्म की एक्ट्रेस रितुपर्णा सेनगुप्ता की एक्टिंग के सामने वो थोड़ी फीकी पड़ गई हैं लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि उनमें कमाल की अभिनय प्रतिभा है।

श्रीजीत ने बेगम जान के किरदार को रानी लक्ष्मीबाई और रजिया सुल्तान जैसी इतिहास की मजबूत महिलाओं के कतार में खड़ा करने की कोशिश की है। फिल्म का संगीत अच्छा है। बेगम जान सबके लिए नहीं बनीं लेकिन सभी को ये फिल्म देखनी चाहिए और अगर आप विद्या के फैन हैं तो तब तो आपको यह फिल्म मिस नहीं करनी चाहिए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top