क़िस्सा मुख़्तसर : बेगम बोलीं, “सोचकर देखिए, हमारे बच्चे कैसे होंगे?”

क़िस्सा मुख़्तसर : बेगम बोलीं, “सोचकर देखिए, हमारे बच्चे कैसे होंगे?”जिगर मुरादाबादी और बेगम अख़्तर 

उर्दू के मशहूर शायर जिगर मुरादाबादी की बेगम अख़्तर से गहरी दोस्ती थी। जिगर और उनकी पत्नी अक्सर बेगम के लखनऊ में हैवलौक रोड पर बने मकान में ठहरा करते थे। बेगम अख़्तर की शागिर्द शांति हीरानंद बताती हैं कि किस तरह बेगम अख़्तर जिगर से फ़्लर्ट किया करती थीं। एक बार मज़ाक में उन्होंने जिगर से कहा, "क्या ही अच्छा हो कि हमारी आपसे शादी हो जाए, ज़रा सोचकर देखिये, हमारे बच्चे कैसे होंगे। मेरी आवाज़ और आपकी शायरी का ज़बरदस्त संगम"। इस पर जिगर ने ज़ोर का ठहाका लगाया और कहा, "वो तो ठीक है लेकिन अगर उनकी शक्ल मेरी तरह निकली तो क्या होगा"

Share it
Top