आज ये सात शेर याद कर लीजिए, काम आएंगे

आज ये सात शेर याद कर लीजिए, काम आएंगेवैलेनटाइंस डे

14 फरवरी यानि इश्क़ का दिन। इज़हार और इक़रार के बीच की खामोशी को तोड़ने का दिन, दिल के जज़्बात बयां करने का दिन, मुहब्बत करने का दिन। वो तमाम लोग जो अपने दिल की बात साल भर नहीं कह पाते ये दिन उनका भी है। लेकिन सोचिए कितना अच्छा हो कि अगर इश्क़ के इज़हार में शायरी भी शामिल हो जाए। शायरी उलझी हुई बातों को सुलझे हुए तरीके से कहने का हुनर है। तभी तो, शायरी मुहब्बत की खुश्बू को और बढ़ा देती है।

तो आज वैलेनटाइंस डे के मौके पर हम आपके लिए लाएं हैं सात ऐसे चुनिंदा शेर जो इस खास मौके पर आपके बहुत काम आएंगे, तो देर किस बात की है, पढ़िये, लुत्फ लीजिए और औरों को भी सुनाइये

पहला शेर

1

दूसरा शेर

2

तीसरा शेर

3

चौथा शेर

4

पांचवां शेर

5

छठा शेर

6

सातवां शेर

7

शायरी का मुहब्बत से गहरा ताल्लुक है। उर्दू शायरी की सबसे मशहूर क़िस्म 'ग़ज़ल' का मतलब ही है 'माशूक़ से बातें करना', और यही वजह है कि शायरी को मुहब्बत की ज़बान कहा जाता है। तो मुहब्बत के इस दिन पर 'मुहब्बत की ज़बान' बोलिये, शेर खुद भी पढ़िये और उनको भी सुनाइये। हैप्पी वैलेनटाइन्स डे।

Share it
Top