मिड-डे मील के इंतजार में बच्चे

मिड-डे मील के इंतजार में बच्चेगाँव कनेक्शन

लखनऊ। शैक्षिक सत्र में फलों के लिए इंतजार कर मायूस हो चुके बच्चों ने अब गर्मी की छुट्टी में एमडीएम का इंतजार करना शुरू कर दिया है। अब कब से बच्चों को एमडीएम उपलब्ध हो सकेगा या इस बारे में फिलहाल कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

फल वितरण योजना की तरह छुट्टी में एमडीएम वितरित किये जाने के सम्बन्ध में बीते बुधवार को मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण उत्तर प्रदेश की निदेशक श्रद्धा मिश्र ने उन सभी 58 जिलों के जिलाधिकारियों को आदेश जारी कर दिये हैं जहां एमडीएम वितरित किया जाएगा। आदेश के अनुसार 21 मई से लेकर 30 जून तक सभी विद्यालयों मे एमडीएम का वितरण किया जाएगा। 

प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में गर्मी की छुट्टियां शुरू हो चुकी हैं। बच्चे भले ही स्कूल न गये हों लेकिन एमडीएम वितरित किये जाने की खबर सुनने के बाद गांव के बच्चों ने इस बारे में एक दूसरे से जहां पूछताछ शुरू कर दी तो वहीं जानकारी के लिए स्कूल के प्रधानाचार्यों तक को फोन कर डाले। आदर्श जूनियर हाई स्कूल, काकोरी में कक्षा 6 में पढ़ने वाली पारूल के पिता कमल किशोर मजदूरी करते हैं। स्कूल में मिलने वाले एमडीएम के जरिये अपना और कभी-कभी अपने भाई-बहनों का पेट भरने वाली पारुल कहती हैं कि मुझे खुशी है कि अब छुट्टी में भी खाना मिलेगा। 

इस संबंध में आदर्श जूनियर हाई स्कूल, काकोरी के प्रधानाचार्य संदीप कहते हैं कि कई बच्चों के फोन यह जानने के लिए आये कि स्कूल में एमडीएम कब से मिलेगा। बच्चे बहुत खुश थे क्योंकि उनको एमडीएम पसंद आता है साथ ही उनकी आर्थिक स्थिति भी अच्छी नहीं है इसलिए इससे उनके परिवार को काफी मदद मिलती है। वहीं दूसरी ओर अपने पांच बच्चों को प्राथमिक विद्यालय दसदोई में पढ़वाकर, एमडीएम के माध्यम से भोजन उपलब्ध करवाने वाली रामवती, जो कि घरों में काम कर अपने बच्चों का लालन-पालन करती हैं, कहती हैं कि छुट्टी में भी स्कूल में खाना मिलेगा यह जानकारी बहुत सुकून मिला है। 

मेरे पति नहीं हैं और बमुश्किल अपने बच्चों का लालन-पालन कर रही हूं। स्कूल में मिलने वाला एमडीएम बहुत सहयोग करता है, इसलिए खुश हूं  क्योंकि छुट्टी में भी बच्चों को एक समय के लिए आसानी से खाना मिल सकेगा। 

इस तरह से होगा एमडीएम का वितरण

सुबह 9 से 11 बजे के बीच विद्यालयों के बंद होने पर भी विद्यार्थियों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही मध्यान्ह भोजन वितरण की जिम्मेदारी उन्हीं व्यक्तियों व संस्थाओं की होगी जिनके द्वारा सामान्य कार्यदिवसों में योजना से आच्छादित विद्यालयों में भोजन को उपलब्ध कराकर वितरित कराए जाने का कार्य किया जाता है।

Tags:    India 
Share it
Top