देखें फ़ोटो : जब मुख्यमंत्री योगी की सुरक्षा में छात्रों ने लगाई सेंध  

देखें फ़ोटो :  जब मुख्यमंत्री योगी की सुरक्षा में छात्रों ने लगाई सेंध  मुख्यमंत्री की सुरक्षा में सेंध।

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाईक सहित कई अन्य मंत्रियों को लखनऊ यूनिवर्सिटी के सांस्कृतिक विभाग में बुधवार शाम शिवाजी महाराज पर आयोजित एक कार्यक्रम में पहुँचे। कार्यक्रम खत्म होने पर सीएम और राज्यपाल जैसे ही हॉल के बाहर पहुंचे तो, वहां पहले से मौजूद कुछ छात्र संगठनों ने सीएम का विरोध करना शुरू कर दिया और उन्हें काले झंडे दिखाये। इस बीच कुछ छात्र-छात्राएं सीएम फ्लीट तक पहुंच गये, जिन्हें वक्त रहते सीएम की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने रोक लिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विरोध करती छात्रायें

ये भी पढ़े- सचिवालय के 18 अनुभाग अधिकारियों का स्थानांतरण

इस बीच मौके पर तैनात पुलिस के हाथ-पांव फुल गये और आनन-फानन में पुलिस ने सभी छात्र-छात्राओं को हिरासत में लेकर हसनगंज कोतवाली अपने साथ ले गई, जहां पुलिस सबसे पूछताछ कर रही है। वहीं सीएम की सुरक्षा में सेंध लगने की घटना को आलाधिकारियों ने गंभीरता से लेते हुए पूरे प्रकरण की जांच के आदेश दे दिए हैं।

छात्रों को गिरफ्तार करती पुलिस

लखनऊ यूनिवर्सिटी में कार्यक्रम के संचालक संजय शुक्ला ने बताया कि, शिवाजी महाराज के गौरव गाथा के उपलक्ष्य में सांस्कृतिक विभाग के हॉल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाईक सहित अन्य मंत्री गणों को शामिल होना था। जहां बुधवार शाम यह सभी अतिथि गण शामिल होने पहुंचे थे और सीएम ने इस मौके पर शिवाजी के जीवन के गौरवगाथा को सबके सामने प्रस्तुत किया।

छात्रों को गिरफ्तार करती लखनऊ पुलिस

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

संजय शुक्ला बताते हैं कि, कार्यक्रम खत्म होने के बाद जैसे ही सीएम वहां से जाने के लिए बाहर आये कि, तभी बाहर समाजवादी छात्र सभा, आईसा और अन्य छात्र संगठनों से जुड़े छात्र-छात्राओं ने सीएम को यूनिवर्सिटी के संबंध में एक ज्ञापन देने का प्रयास किया। जिन्हें सीएम की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा कर्मियों ने रोक लिया। इससे नाराज छात्र-छात्राओं ने वहां जमकर नारेबाजी शुरू कर दी और काले झंडे दिखाकर सीएम का विरोध शुरू कर दिया। वहीं इस मामले में पुलिस ने बताया कि यह सभी प्रदर्शनकारी पहले से सीएम के कार्यक्रम का विरोध कर रहे थे, जिसकी सूचना एलयू प्रशासन ने पहले ही दे दी थी। फिर भी प्रदर्शन की सूचना होने के बावजूद भी यह छात्र कैसे सीएम की फ्लीट तक पहुंचे इसकी जांच के आदेश दे दिए गये हैं।

मुख्यमंत्री की सुरक्षा में पहुंची छात्राओं को गिरफ्तार करती पुलिस

ये भी पढ़े- चुनाव आयोग ने किया ऐलान, राष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मी तेज, जानिये इस बार क्या है ख़ास

मुख्यमंत्री की फ्लीट से छात्रों को दूर करती पुलिस

उधर छात्रों के हंगामे से काफी देर तक एलयू कैम्पस में अफरा-तफरी का माहौल था, जिसे रोक पाने में राजधानी पुलिस असफल साबित हुई। वहीं इस हंगामे के दौरान हसनगंज पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं को हिरासत में लेकर हसनगंज कोतवाली ले आई। जहां इन सब के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top