मणिपुरी महिला को एयर पोर्ट पर करानी पड़ी भारतीय होने की पहचान

मणिपुरी महिला को एयर पोर्ट पर करानी पड़ी भारतीय होने की पहचानgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। एक मणिपुरी महिला ने आरोप लगाया है कि यहां के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उसे नस्ली उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

मोनिका खानगेमबम ने आरोप लगया है कि शनिवार को एक सम्मेलन के सिलसिले में सोल जाने के लिए वे दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर आव्रजन कार्यालय पहुंची तो वहां एक अधिकारी ने उनके खिलाफ नस्ली टिप्पणी की।

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने सोमवार को बताया कि आरोप की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘हम मामले की जांच कर रहे हैं। उत्पीड़न के मामले पहले भी सामने आए हैं। उत्पीड़न हुआ होगा तो कार्रवाई की जाएगी।'' मामले की जांच गृह मंत्रालय के तहत आने वाला आव्रजन ब्यूरो करेगा। मामले की जानकारी मिलने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसपर खेद जताया है।

स्वराज ने ट्वीट करके कहा, ‘‘मोनिका खानगेमबम- इसके लिए मैं आपसे माफी मांगती हूं। आव्रजन मेरे तहत नहीं आता है। लेकिन मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी श्री राजनाथ सिंह जी से हवाईअड्डे पर आव्रजन अधिकारियों से संवेदनशीलता बरतने को कहने का आग्रह करुंगी।'' अपने फेसबुक वॉल पर खानगेमबम ने लिखा था कि शनिवार रात लगभग नौ बजे जब वे आईजीआई के आव्रजन डेस्क पर पहुंची तो एक अधिकारी ने उनके पासपोर्ट को देखते हुए कहा, ‘‘आप भारतीय तो नहीं लगतीं।'' इसके साथ ही अधिकारी ने उनकी भारतीयता की पहचान करने के लिए पूछा कि देश में कितने राज्य है। 

जब खानगेमबम ने बताया कि वह मणिपुर से है तो अधिकारी ने कथित तौर पर उनसे मणिपुर की सीमा से सटे राज्यों के नाम पूछे। इस पर खानगेमबम ने कहा कि मुझे देर हो रही है, तो अधिकारी ने कहा कि विमान आपको छोड़कर कहीं नहीं जा रहा। आराम से जवाब दो।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top