मोबाइल और चाय की दुकान पर मिल रहा पेट्रोल

मोबाइल और चाय की दुकान पर मिल रहा पेट्रोलgaonconnection

फैजाबाद। 27 फरवरी 2002 में हुए गोधरा कांड के बाद सुप्रीम कोर्ट ने पूरे देश में ज्वलनशील पदार्थ प्लॉस्टिक की बोतल और डिब्बे में बेचे जाने पर रोक लगा दी थी, लेकिन पेट्रोलपंप मालिक को अपने फायदे के आगे कुछ नहीं सूझ रहा है। पेट्रोल पंप वाले चंद रुपए के लिए बोतल में पेट्रोल बांट रहे हैं। अधिकारियों को इसकी भनक भी है, लेकिन कार्रवाई कभी नहीं की गई जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है। अति ज्वलनशील और विस्फोटक पदार्थ को लेकर प्रशासन अभी भी गंभीर नहीं हुआ है।

फैजाबाद में पेट्रोल पंप के अलावा किराना मोबाइल रिचार्ज पान एवं चाय की दुकानों पर खुलेआम पेट्रोल टंकी से दुकानदार पेट्रोल खरीद कर 10 रुपए ज्यादा लेकर पेट्रोल बेच रहे हैं। चौराहों पर पेट्रोल के डिब्बे दुकान के बाहर लटके रहते हैं और दुकानों के अंदर ड्रम में पेट्रोल रखकर बिक्री की जाती है। गर्मी में पेट्रोल की खुले में बिक्री पर हादसा हो सकता है। स्थानीय प्रशासन पेट्रोल के खुलेआम बिक्री पर ध्यान नहीं दे रहा है।

फैजाबाद के हर गाँव हर छोटे-बड़े चौराहे सड़क मार्ग के अलावा नगर में भीड़ वाले इलाके में दुकान पर पेट्रोल बेचने का खेल चल रहा है। यही हाल डीजल और केरोसिन का भी है। लगभग आधा सैकड़ा ऐसी दुकाने हैं जहां पर यह पेट्रोल बिक्री चल ही है। खाद्य विभाग और स्थानीय प्रशासन इस खुलेआम बिक्री पर रोक लगाने में रूचि नहीं दिखा रहा है।

Tags:    India 
Share it
Top