मथुरा में हिंसा मामले में 200 लोगों की पहचान की गई: अधिकारी

मथुरा में हिंसा मामले में 200 लोगों की पहचान की गई: अधिकारीgaonconnection

मथुरा (भाषा)। बुधवार शाम को पुलिस और जवाहर बाग पर कब्जा जमाए बैठे लोगों के बीच हुई हिंसक झडप के चलते रात ढ़ाई बजे मथुरा पहुंचे गृह सचिव मणि प्रसाद और अपर महानिदेशक पुलिस (कानून एवं व्यवस्था) दलजीत चौधरी ने कहा कि घटना को अंजाम देने वाले 200 लोगों की पहचान की गई है जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर उनके खिलाफ उचित कानूनी धारा के तहत कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने बताया कि जवाहर बाग में जो लोग अनधिकृत रुप से कब्जा किए हुए थे, उनके खिलाफ इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने जगह खाली कराने का आदेश दिया था जिसके अनुपालन के लिए पुलिस चाहती थी कि यह कार्यवाही शांतिपूर्वक हो जाए। इसीलिए पुलिस पार्टी कार्रवाई के दौरान व्यवस्था बनाए रखने के लिए रेकी करने के इरादे से गई थी लेकिन अवैध रुप से वहां डटे हुए लोगों ने गैरकानूनी हथियारों के साथ उन पर हमला कर दिया।

अधिकारियों ने बताया कि इससे अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) मुकुल द्विवेदी और फरह पुलिस थाने के प्रभारी संतोष कुमार यादव पहले घायल हुए और फिर एक-एक कर उनकी मृत्यु हो गई। मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी चक्रपाणि त्रिपाठी सहित अनेक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

उन्होंने बताया कि बाग में तलाशी के दौरान 12 अतिक्रमणकारियों के भी शव बरामद हुए। इनके अलावा पुलिस के 55 तथा दूसरे पक्ष के दो दर्जन लोग जख्मी हुए हैं जिनमें से कुछ की हालत नाजुक है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.