मुख्यमंत्री के आदेश को काटकर हुई सचिव की नियुक्ति

मुख्यमंत्री के आदेश को काटकर हुई सचिव की नियुक्तिgaon connection

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कृषि अनुसंधान परिषद (उपकार) में सचिव के पद पर नियुक्ति के संबंध में शासन व परिषद के बीच विवाद और गहरा गया है। 

उप्र शासन ने उपकार में सचिव के पद पर कृषि विभाग के निदेशक स्तर के अधिकारी ऋषि राज सिंह की नियुक्ति कर दी है। इसके बाद परिषद के महानिदेशक डॉ राजेन्द्र प्रसाद 11 फरवरी की शाम लिखित आधिकारिक बयान जारी किया। 

''कृषि विभाग के निदेशक स्तर के अधिकारी की नियुक्तिपरिषद में सचिव के पद पर पिछले कुछ वर्षों से की जाती रही है जबकि परिषद नियमावली में यह पद परिषद स्तर का है। इस सम्बन्ध में महानिदेशक द्वारा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आपत्ति जताई गई थी, जिस पर मुख्यमंत्री द्वारा संज्ञान लेते हुए परिषद में सचिव की नियुक्ति न किये जाने के निर्देश दिये गये थे," बयान में कहा गया। 

लिखित बयान के अनुसार मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद शासन द्वारा यह नियुक्ति की गयी है। इस संबंध में महानिदेशक द्वारा शासन को पत्र लिख कर आपत्ति जताई गई थी, जिस पर शासन स्तर से कार्यवाही अभी लम्बित है। 

उपकार और शासन के बीच नियुक्तियों व नए कृषि विश्वविद्यालय एक्ट जैसे मुद्दों को लेकर तकरार लंबे समय से चल रही है।

ऐसे ही एक मामले में उपकार के महानिदेशक की इच्छा के बिना प्रदेश के प्रमुख सचिव (कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान) अमित मोहन प्रसाद द्वारा आरआर सिंह को परिषद में योगदान के लिए नामित कर दिया गया। इस तरह के मामले में महानिदेशक की अनुमति और हस्ताक्षर आवश्यक हैं, लेकिन हस्ताक्षर भी शासन स्तर पर ही कर लिए गए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top