महिला कबड्डी लीग : मंच मिला तो लड़कियों ने खुद को किया साबित 

Ashwani DwivediAshwani Dwivedi   1 May 2018 11:34 AM GMT

महिला कबड्डी लीग : मंच मिला तो लड़कियों ने खुद को किया साबित विजेता टीम

कबड्डी आज भी आमतौर पर पुरुषों का खेल माना जाता है, लेकिन उत्तर प्रदेश में पहली बार नवगठित संस्था वीमेन कबड्डी लीग ने उत्तर प्रदेश की शहरी लड़कियों के साथ ही ग्रामीण लड़कियों को कबड्डी खेल मंच दिया।

इसमें ग्रामीण लड़कियों ने पूरी दमखम के साथ खुद को साबित करके ये सिद्ध कर दिया कि अगर सही मंच मिले तो ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे खेल की दुनिया मे देश का नाम रोशन कर सकते हैं।

जूनियर टीम में फैजाबाद तो सीनियर टीम में लखनऊ गर्ल्स के सिर सजा जीत का ताज

उत्तर प्रदेश के राजधानी लखनऊ में 28 अप्रैल से शुरू हुए बालिकाओं की कबड्डी प्रतियोगिता का तीस अप्रैल को फाइनल मैच था। फाइनल मैच में जूनियर वर्ग में 10 टीम और सीनियर वर्ग में 9 टीमों ने हिस्सा लिया, जूनियर वर्ग का फाइनल कबड्डी मैच डाया सेमर फैजाबाद व उच्च माध्यमिक विद्यालय सीतापुर के बीच खेला गया, जिसमें कबड्डी क्लब फैज़ाबाद ने सीतापुर उच्च माध्यमिक विद्यालय को 3 अंकों से शिकस्त दी।

सीनियर वर्ग के फाइनल मैच लखनऊ सीनियर गर्ल्स और एनएसए इलाहाबाद के बीच खेला गया जिसमें लखनऊ की टीम ने इलाहाबाद की टीम को 28 अंकों से पराजित कर दिया।

ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं ने जीतने के लिए जी जान लगा दी उपविजेता रही सीतापुर उच्च माध्यमिक विद्यालय की टीम में आई हुमा, सोनी, एवं तहसीन का प्रदर्शन जबरदस्त रहा, वहीं फैजाबाद की ग्रामीण लड़कियों ने फैजाबाद का झंडा बुलंद कर दिया। वहीं सीनियर वर्ग में जीती लखनऊ की टीम की सुमन, कोमल शर्मा, एवं ललिता विष्ट का प्रदर्शन शानदार रहा, इलाहाबाद की टीम कप्तान प्रांजलि पटेल ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

किसी के पापा किसान तो किसी के ड्राइवर

टीम में आयी ग्रामीण बालिकाओं के लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में खेलना किसी सपने से कम न था, सीतापुर से आयी हुमा ने बताया कि उनके पिता ड्राइवर है व सोनी ने बताया कि उनके पिताजी दूसरे की जमीन बंटाई लेकर किसानी करते हैं। इलाहाबाद टीम की कप्तान प्रांजली पटेल ने बताया कि ये हम लोगो के लिए किसी सपने जैसा है अगर सही प्रशिक्षण मिले तो हम लोग भी देश के लिए अवार्ड जीतने की ताकत रखते हैं।

तीन मई को विजेता टीम को राज्यपाल करेंगे सम्मानित

अंश वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष श्रद्धा सक्सेना एवं महिला कबड्डी लीग के अध्यक्ष नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि आगामी 28 अप्रैल को राजधानी की महापौर संयुक्ता भाटिया कबड्डी प्रतियोगिता का उद्घाटन किया गया और 30 अप्रैल को फाइनल मैच सम्पन्न हुआ।

आगामी 3 मई को प्रदेश की राज्यपाल राम नाईक सीनियर और जूनियर वर्ग की विजयी टीमों को ट्राफी प्रदान करेंगे। बीकेटी के एसआर ग्लोबल स्कूल में आयोजित होने वाले सम्मान समारोह में राज्यपाल लीग के सहयोगियों को भी सम्मानित करेंगे। साथ ही लीग की स्मारिका का विमोचन भी होगा।

महिला कबड्डी लीग को कल्पना से धरातल पर लाने वाले नागेन्द्र ने बताया कि यूपी में पहली बार निजी स्तर पर ग्रामीण एवं शहरी बालिकाओं की कबड्डी प्रतियोगिता हो रही है। प्रदेश स्तरीय महिला कबड्डी लीग के लिए विभिन्न जिलों में क्वॉर्टर फाइनल मैच कराए जा गए और सेमी फाइनल व फाइनल मैच में विभिन्न जिलों से तकरीबन 40 कबड्डी टीमें लखनऊ आयी।

ऐसे बच्चो को मंच दिया जिन्हें कभी कोई बड़ा मंच नही मिल

उन्होंने आगे बताया कि महिला कबड्डी लीग 'हमसे न लो पंगा' नाम की इस खेल प्रतियोगिता के माध्यम से बालिकाओं विशेषकर ग्रामीण निजी और सरकारी स्कूलों की बच्चियों में आत्मविश्वास भर रहे हैं। इसमें हम लोगों ने उन बच्चियों को प्राथमिकता दी है, जिन्हें कभी कोई बड़ा मंच नहीं मिला था।

श्रद्धा ने बताया कि इस कबड्डी लीग की गणतंत्र दिवस के मौके पर बख़्शी का तालाब ब्लॉक से विधिवत शुरुआत हुई। 26 जनवरी से 23 अप्रैल के बीच प्रदेश के 25 जिलों में कबड्डी प्रतियोगिता कराई गई। जिलों में क्वार्टर फाइनल जीतने वाली सीनियर और जूनियर टीमों के अलावा कुछ बेहतरीन टीमें वाइल्ड कार्ड इंट्री के जरिये लखनऊ आयी है, यूपी लेबल की इस कबड्डी लीग में लड़कियों का भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। ग्रामीण इलाके की धाकड़ बच्चियों ने कबड्डी में पूरा दमखम दिखा रही हैं।

उन्होंने बताया कि "हमसे न लो पंगा" में कबड्डी के माध्यम से नारी सशक्तिकरण की नई कहानी लिखने की कोशिश हो रही है। इसमें 10 से 14 वर्ष आयु की (जूनियर) और 15 से 18 वर्ष की (सीनियर) टीमें शामिल की गई है ।

सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से डब्ल्यू के एल ने कराई नि:शुल्क प्रतियोगिता

वीमेन कबड्डी लीग के सचिव प्रह्लाद सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए स्कूल या फिर लड़कियों को किसी प्रकार की शुल्क नहीं लिया गया है। इतना ही नहीं, सेमी फाइनल और फाइनल के लिए जो टीमें लखनऊ में आयी है । उन खिलाड़ियों के रहने, खाने का भी सारा इंतज़ाम आयोजक मंडल द्वारा किया गया है , इसके अलावा बालिकाओं को योग क्लास और मोटिवेशनल क्लास भी दी गयी है।

लड़कियों का मनोबल बढ़ाने पहुंचे ये खास लोग

रीता बहुगुणा जोशी (मंत्री भाजपा)

सांसद प्रियंका रावत (बाराबंकी,भाजपा)

सयुक्ता भाटिया (महापौर लखनऊ)

रणजीत सिंह (भाजपा नेता)

पवन सिंह चौहान ( समाज सेवक)

संजोली पांडेय (प्रसिद्ध लोकगायिका)

ममता सिंह (शिक्षक एवं समाजसेवी)

मुख्यमंत्री व राज्यपाल ने भेजी शुभकामनाएं

वीमेन कबड्डी लीग को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व राज्यपाल रामनाईक ने पत्र भेजकर शुभकामनाएं दी, मुख्यमंत्री ने भेजे गए पत्र में लिखा कि मुझे विश्वास है कि वीमेन कबड्डी लीग में बालिकाएं कबड्डी खेल की बारीकियां सीखेंगी और भविष्य में नए कीर्तिमान स्थापित करेंगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top