छात्राओं ने साझा की अपने ‘उन दिनों की बात’

Divendra SinghDivendra Singh   19 Feb 2018 11:56 AM GMT

छात्राओं ने साझा की अपने ‘उन दिनों की बात’मुनस्यारी की लड़कियों ने सीखे माहवारी के दौरान स्वच्छता प्रबंधन की बातें।

मुनस्यारी(पिथौरागढ़)। नेपाल सीमा से सटे घाटी में बसे मुनस्यारी ब्लॉक में अभी भी लड़कियां सेनेटरी नैपकीन जैसी चीजों से अंजान हैं, लेकिन अब उनमें भी बदलाव आ रहा है।

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ प्रशासन और गांव कनेक्शन फाउंडेशन के साझा प्रयास से जिले के सभी राजकीय विद्यालयों में 12 फरवरी से 20 फरवरी तक माहवारी एवं स्वच्छता प्रबंधन पर कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य हैं जिले में चल रहे राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की छात्राओं के बीच माहवारी पर खुलकर चर्चा की जाए। इस कार्यशाला में छात्राओं को पहली माहवारी, उनके खानपान, साफ-सफाई और पैड इस्तेमाल से लेकर उसके निस्तारण तक की प्रक्रिया को गांव कनेक्शन फाउंडेशन की तरफ से बताया जा रहा है।

पिथौरागढ़ ज़िला मुख्यालय से सौ किमी. से भी दूर नेपाल सीमा से सटे मुनस्यारी ब्लॉक के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में आसपास की दर्ज़नों गाँव की 234 लड़कियां पढ़ने आती हैं।

ये भी पढ़ें: उत्तराखण्ड की इन छात्राओं ने जाना, आखिर हर लड़की को क्यों हाेती है माहवारी

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ प्रशासन और गांव कनेक्शन फाउंडेशन के साझा प्रयास से लड़कियां कर रहीं खुलकर बात।

राजकीय इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल सुनीता पांडेय कहती हैं, "ये पहला मौका है जब शहर से इतनी दूर गाँव की लड़कियों को कोई माहवारी जैसी बातों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। लड़कियां खुल कर सामने आ रही हैं।"

गाँव कनेक्शन फाउंडेशन की ट्रेनर श्वेता मिश्रा ने छात्राओं को माहवारी के बारे में बताया कि कैसे लड़कियां अपने साथ दूसरों को भी जागरूक कर सकती हैं। श्वेता मिश्रा ने छात्राओं को माहवारी के दिनों में साफ-सफाई जैसे मुद्दों पर विस्तार से बताया।

इस कार्यक्रम में ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर, खंड शिक्षा अधिकारी, एडीओ पंचायत, डॉ प्रियंका,आशाबहु, आंगनबाड़ी समेत पूरा विद्यालय परिवार मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले की लड़कियों ने पहली बार माहवारी पर खुलकर की बात

लड़कियों ने अपनी माहवारी की भ्रांतियां दूर हुई।

ये भी पढ़ें: माहवारी पर लोगों की सोच बदल रहे ये युवा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top