नौ वर्ष की बच्ची से दुष्कर्म, अस्पताल में भी एक घंटे तड़पी

नौ वर्ष की बच्ची से दुष्कर्म, अस्पताल में भी एक घंटे तड़पीgaon connection, mainpuri

लखनऊ। नौ साल की मासूम बच्ची उस समय 16 वर्ष के लड़के की दरिंदगी का शिकार बन गई जब वह खेत में बकरी चरा रही थी। इसके बाद वह बच्ची डॉक्टरों की तथाकथित दरिंदगी का शिकार उस समय बनी जब करीब एक घंटा तक खून से लथपथ होकर वह अस्पताल गेट पर पड़ी रही।            

मामला मैनपुरी जि़ले के थाना एनाऊं के गाँव कुड़री का है। गुरुवार देर शाम यहां रहने वाली एक नौ साल की बच्ची खेत पर बकरियों को चरा रही थी। इस दौरान यहीं के निवासी राहुल 16 वर्ष ने उसके साथ खेत में जबरन दुराचार किया और मौके से भाग निकला। खून से लथपथ वह बच्ची किसी तरह घर पहुंची और गिर पड़ी। बच्ची के पिता बताते है, ''घर आते ही वह गिर पड़ी, उससे जैसे पूछा गया तो उसने बताया कि गाँव के राहुल ने उसे गंदा कर दिया है।" एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2014 में 38 हजार से अधिक महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले सामने आए हैं। 

गाँव वालों ने इस मामले की सूचना पुलिस को दी और बच्ची को लेकर जि़ला अस्पताल पहुंचे। बच्ची के लगातार खून बह रहा था लेकिन उसे अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया, जबकि सीओ सिटी शैलेंद्र लाल लगातार महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ. मिन्नी गौतम से बच्ची को भर्ती करने की गुजारिश करते रहे। बच्ची की मां ने बताया, ''साढ़े आठ बजे से मेरी बिटिया तड़प रही है। डॉक्टर ने पुलिस वाले साहब की भी नहीं सुुनी और मौके से भी चले गए।" वो बताती है, ''सवा नौ बजे जब पुलिस वाले साहब वर्दी में आए तब बिटिया को खाली बिस्तर में रख दिया गया। वो चिल्ला रही है दर्द के कारण लेकिन कोई उसे दवा तक नहीं दे रहा।" सीओ सिटी शैलेंद्र लाल ने बताया कि आरोपी को पकड़ लिया गया है। तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर दिया जाएगा। अस्पताल प्रशासन का रवैया संवेदनहीन था, इसकी आलाधिकारियों से शिकायत की जाएगी।

       

रिपोर्टिंग- रतन सिंह 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top